अपना शहर चुनें

States

तमिलनाडु: भ्रष्टाचार के मामले में सजा काट रहीं शशिकला की तबीयत में सुधार, ICU से बाहर लाया गया

शशिकला को आईसीयू से बाहर लाया गया: अस्पताल (फोटो साभार-News18)
शशिकला को आईसीयू से बाहर लाया गया: अस्पताल (फोटो साभार-News18)

वी के शशिकला (V K Sasikala) की गंभीर स्थिति को देखते हुए विक्टोरिया अस्पताल के आईसीयू वार्ड में स्थानांतरित किया गया था. अब जब उनकी स्थिति सामान्य हो गई है, तो उन्हें आईसीयू से बाहर लाया गया है.

  • Share this:
बेंगलुरु. अन्नाद्रमुक से निष्कासित नेता वी के शशिकला (V K Sasikala) को कोरोना वायरस संक्रमण संबंधी उनके लक्षण कम होने के बाद आईसीयू से बाहर लाया गया है. विक्टोरिया अस्पताल के अधिकारियों ने एक बयान में यह जानकारी दी. शशिकला भ्रष्टाचार के एक मामले में बेंगलुरु में जेल की सजा काट रही है. तमिलनाडु (Tamil Nadu) की पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता की पूर्व सहयोगी शशिकला को 20 जनवरी को कोरोना वायरस से संक्रमित पाये जाने के बाद बॉरिंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था. शशिकला 27 जनवरी को जेल से रिहा होने वाली हैं.

शशिकला की गंभीर स्थिति को देखते हुए विक्टोरिया अस्पताल के आईसीयू वार्ड में स्थानांतरित किया गया था. अब जब उनके लक्षण काफी हद तक कम हो गए हैं और उनकी स्थिति सामान्य हो गई है, तो उन्हें आईसीयू से बाहर लाया गया है. हालांकि, अस्पताल के अधिकारी उनकी निगरानी कर रहे हैं. अधिकारियों ने कहा कि इस बीच, उनकी रिश्तेदार जे इलावारसी की हालत में भी सुधार हो रहा है. वह भी कोविड-19 से संक्रमित पायी गई थी. इलावारसी भी भ्रष्टाचार के मामले में जेल की सजा काट रही है. शशिकला को फरवरी 2017 में 66 करोड़ रुपये की आय के ज्ञात स्रोत से अधिक संपत्ति के मामले में चार साल की कैद की सजा सुनाई गई थी.





ये भी पढ़ें: गलवान घाटी में जान गंवाने वाले कर्नल संतोष बाबू को मिलेगा महावीर चक्र
ये भी पढ़ें: चेन्नई पुलिस ने गलत तरीके से इंडोनेशियाई स्पा वर्कर को लिया था हिरासत में, SC पहुंचा  मामला

2017 में हुई थी सजा
शशिकला के वकील राजा सेंथूर ने बताया कि उन्हें बेंगलुरु जेल से आधिकारिक पत्र मिला है जिसके मुताबिक 27 जनवरी को शशिकला को रिहा कर दिया जाएगा. गौरतलब है कि शशिकला ने कभी सीधे चुनाव नहीं लड़ा लेकिन वो अन्नाद्रमुक में खासा प्रभाव रखती थीं. जयललिता की मौत के बाद कुछ समय तक पार्टी की कमान उनके हाथों में थी और वो मुख्यमंत्री बनने की तैयारी भी कर रही थीं. लेकिन फिर बाद में उन्हें पार्टी से निकाल दिया गया था. उन्हें 2017 में आय से अधिक संपत्ति मामले में सजा हुई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज