लाइव टीवी

CAA के समर्थन में बीजेपी की रैली से सहयोगियों ने किया किनारा, एनआरसी पर AIADMK की धमकी

News18Hindi
Updated: January 7, 2020, 9:23 PM IST
CAA के समर्थन में बीजेपी की रैली से सहयोगियों ने किया किनारा, एनआरसी पर AIADMK की धमकी
सीएए के समर्थन में बीजेपी ने चेन्नई में रैली का आयोजन किया. photo.news18

नागरिकता कानून (Citizenship amendment act) के समर्थन में बीजेपी की ये रैली उसी जगह हुई, जहां बीते साल दिसंबर में डीएमके (DMK) ने सीएए के विरोध में रैली की थी. हालांकि बीजेपी की ये रैली उसके मनमुताबिक नहीं हो पाई, क्‍योंकि इस रैली में बीजेपी के दो सहयोगी पार्टियों एआईएडीएमके (DMK) और पीएमके (PMK) ने हिस्‍सा नहीं लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 7, 2020, 9:23 PM IST
  • Share this:
चेन्‍नई. बीजेपी (BJP) ने देश भर में नागरिकता कानून (Citizenship amendment act) के समर्थन में कैंपेन शुरू किया है. कई राज्‍यों में उसने रैली और सभाओं का आयोजन भी किया है. मंगलवार को चेन्‍नई (Chennai) में बीजेपी ने नागरिकता कानून के समर्थन में एक रैली का आयोजन किया. बीजेपी की ये रैली उसी जगह हुई, जहां बीते साल दिसंबर में डीएमके (DMK) ने सीएए के विरोध में रैली की थी. हालांकि बीजेपी की ये रैली उसके मनमुताबिक नहीं हो पाई, क्‍योंकि इस रैली में बीजेपी के दो सहयोगी पार्टियों एआईएडीएमके (DMK) और पीएमके (PMK) ने हिस्‍सा नहीं लिया.

हालांकि बाद में बीजेपी ने कहा कि ये रैली बीजेपी ने अकेले आयोजित की थी. तमिलनाडु बीजेपी के प्रवक्‍ता नारायण तिरुपति ने कहा, बीजेपी ने ये रैली राज्‍य में लोगों को सीएए के समर्थन में संदेश देने के लिए की थी. हम लोगों को बताना चाहते हैं कि ये बिल किसी भी अल्‍पसंख्‍यक के खिलाफ नहीं है.

दोनों पार्टियों को रैली में आने के लिए  कहा गया, लेकिन बात नहीं बनी
बीजेपी सूत्रों की मानें तो राज्‍य में पार्टी के नेता आखिर तक ई पलानीसामी सरकार और पीएमके के अंबुमणि रामदास से रैली में आने के लिए कहते रहे. लेकिन बात नहीं बनी. राज्‍य में इस बिल के खिलाफ उठ रही आवाजों के कारण एआईएडीएमके सरकार लगातार सफाई भी दे रही है कि ये बिल मुस्‍लिमों के खिलाफ नहीं है.



मंगलवार को विधानसभा में जब डीएमके विधायक ने इस बिल के समर्थन के लिए अन्‍नाद्रमुक सरकार पर निशाना साधा तो राज्‍यमंत्री आरबी उदयकुमार ने कहा, देश में कोई भी मुस्‍लिम इस कानून से प्रभावित नहीं है. क्‍योंकि किसी भी राज्‍य में एनआरसी जैसे कानून को लागू करने की बात नहीं है. और अगर इसे लागू किया जाता है और एक भी मुस्‍लिम प्रभावित होता है तो एआईएडीएमके इसके खिलाफ आवाज उठाएगी. वहीं एनडीए की सहयोगी पीएमक ने 30 दिसंबर को एक प्रस्‍ताव पारित कर एनआरसी का विरोध किया था.



यह भी पढ़ें...
छात्रों के समर्थन में JNU पहुंचीं एक्‍ट्रेस दीपिका पादुकोण, कन्‍हैया कुमार लगा रहे थे नारेईरानी जनरल सुलेमानी की हत्या से बढ़े वैश्विक तनाव पर बरतें संयम: UN प्रमुख
ईरान पर डोनाल्ड ट्रंप का नया वार, कहा- ये कभी परमाणु शक्ति नहीं बन पाएंगे
कासिम सुलेमानी की मौत से भड़का ईरान, अमेरिकी बलों को घोषित किया आतंकवादी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 7, 2020, 9:10 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading