इस राज्य में कोविड ड्यूटी करने वालों को सरकार देगी इंसेंटिव, अनहोनी हुई तो 25 लाख का मुआवजा

 2-डीजी एक जेनेरिक मॉलीक्यूल है और ग्लुकोज से मिलता जुलता है, इसलिए इसका उत्पादन आसान होगा और देश में बड़े पैमाने पर उपलब्ध कराई जा सकती है.

2-डीजी एक जेनेरिक मॉलीक्यूल है और ग्लुकोज से मिलता जुलता है, इसलिए इसका उत्पादन आसान होगा और देश में बड़े पैमाने पर उपलब्ध कराई जा सकती है.

कोरोना वायरस का संक्रमण सभी प्रदेशों को अपनी जद में ले रहा है. इस दौरान ड्यूटी कर रहे कोविड वॉरियर्स की भी जान खतरे में है. ऐसे में तमिलनाडु के सीएम ने अपने राज्य में कोविड ड्यूटी कर रहे मेडिकल स्टाफ के लिए इंसेंटिव की घोषणा की है. उन परिवारों के लिए मुआवजा भी घोषित किया गया है, जिनकी जान कोरोना ड्यूटी में चली गई.

  • Share this:

चेन्नई. कोविड अस्पतालों में ड्यूटी करने वाले मेडिकल और अन्य स्टाफ की जान को खतरा आम लोगों से कहीं ज्यादा होता है. ये लोग हाई रिस्क पर लोगों की सेवा करते हैं. ऐसे में तमिलनाडु सरकार ने उनका हौसला बढ़ाने के लिए मेडिकल स्टाफ को इंसेंटिव देने की घोषणा की है. तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने घोषणा की है कि कोविड ड्यूटी करने वाले मेडिकल और पैरा मेडिकल स्टाफ को अप्रैल, मई और जून का इंसेंटिव दिया जाएगा. इसके अलावा उन्होंने कोविड ड्यूटी के दौरान जान गंवाने वाले कोरोना वॉरियर्स के लिए 25 लाख के मुआवजे का भी ऐलान किया है.

43 मेडिकल स्टाफ के परिवार को मुआवजा

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने कोरोना ड्यूटी के दौरान राज्य में जान गंवाने वाले 43 डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ के परिवारों को 25 लाख का मुआवजा देने की घोषणा की है. कोरोना मरीजों की देखभाल करते हुए ड्यूटी के दौरान ही इन डॉक्टर्स की मौत हो गई थी.

Youtube Video

मेडिकल स्टाफ को दिया जाएगा इंसेंटिव

स्टालिन ने उन मेडिकल और पैरा मेडिकल स्टाफ के लिए भी प्रोत्साहन की घोषणा की है जो कोविड मरीजों के उपचार में शामिल हैं. तीन महीने की प्रोत्साहन योजना के तहत कोविड की दूसरी लहर के दौरान ड्यूटी कर रहे डॉक्टर्स को 30 हजार रुपये, नर्स और ट्रेनी डॉक्टर्स को 20 हजार रुपये का भुगतान किया जाएगा. इसके अलावा एंबुलेंस कर्मचारियों और टेस्ट-स्कैनिंग में लगे कर्मचारियों को 15 हजार रुपये का इंसेंटिव दिया जाएगा.

तमिलनाडु में 24 मई तक है लॉकडाउन



राज्य में मंगलवार को कोरोना के सबसे ज्यादा नए केस आए हैं. 29 हजार 272 नए केसेज के साथ अब यहां संक्रमितों का कुल आंकड़ा बढ़कर 14 लाख 38 हजार 509 हो गया है, जबकि पिछले 24 घंटे में 298 लोगों की जान वायरस के चलते जा चुकी है. नए संक्रमण को देखते हुए तमिलनाडु में 24 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई है. मुख्यमंत्री स्टालिन ने आम जनता और व्यवसायियों से सीएम राहत कोष में दान देने की अपील की है. सीएम पद की शपथ लेने के बाद ही उनके सामने सबसे बड़ी जिम्मेदारी कोरोना महामारी से निपटना बन चुकी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज