Corona Crisis के बीच जमाखोरों पर सख्त तमिलनाडु के सीएम, कर ली एक्शन की तैयारी

तमिलनाडु के सीएम एम के स्टालिन.

देश में कोरोना संक्रमण के दौरान ही दवाओं की कालाबाजारी और जमाखोरी की घटनाएं खूब हो रही हैं. दक्षिणी राज्य तमिलनाडु में भी ऐसी घटनाएं सामने आने के बाद वहां के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने जमाखोरों के खिलाफ पुलिस को गुंडा एक्ट लगाने के निर्देश दिए हैं.

  • Share this:
    चेन्नई. तमिलनाडु में कोरोना के बढ़ते आंकड़ों के बीच जमाखोरी और कालाबाजारी भी बड़ी समस्या बनती जा रही है. ऐसे में मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने ऐसे ही जमाखोरों और कालाबाजारी करने वालों के खिलाफ कड़े एक्शन की तैयारी कर ली है. मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने शनिवार को कहा कि तमिलनाडु में कोविड-19 के मरीजों के उपचार में इस्तेमाल होने वाली दवा रेमडेसिविर की जमाखोरी करने वालों और ज्यादा कीमत पर ऑक्सीजन सिलेंडर बेचने वालों के खिलाफ सख्त गुंडा अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाएगी. सीएम ने ये निर्देश ऐसे वक्त में दिया है, जब कुछ लोगों द्वारा रेमडेसिविर इंजेक्शन की शीशियों को कथित तौर पर ज्यादा कीमत पर बेचने की खबरें आईं और इसमें शामिल लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया.

    दवाओं की जमाखोरी बर्दाश्त नहीं
    पुलिस को सीएम की ओर से दिए गए सख्त आदेश के बाद सीएम एम के स्टालिन ने लॉकडाउन के दौरान जनता के धैर्य की तारीफ की है. उन्होंने कहा है कि, ' प्रतिबंधों के कारण आजीविका पर असर पड़ने के बावजूद जनता ने लॉकडाउन की “कड़वी गोली” को स्वीकार किया है और जीवन बचाने में सहयोग दिया है. वहीं ऐसे समय में कुछ “असामाजिक तत्व” दवाओं की जमाखोरी कर उसकी कालाबाजारी कर रहे हैं' उन्होंने कहा कि खबरें मिल रही हैं कि कुछ जगहों पर ऑक्सीजन सिलेंडर ज्यादा कीमतों पर बेचे जा रहे हैं और महामारी के समय ऐसा कृत्य गंभीर अपराध है.' मुख्यमंत्री ने अपने बयान में कहा, 'रेमडेसिविर इंजेक्शन की जमाखोरी करने वालों और ऊंची कीमतों पर ऑक्सीजन सिलेंडर बेचने वालों के खिलाफ मैंने पुलिस विभाग को गुंडा अधिनियम के तहत सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया है.'

    तमिलनाडु में कोरोना के नए केस बढ़े
    पिछले 24 घंटे में तमिलनाडु में कोरोना वायरस संक्रमण के 31,892 नये मामले आए जिनमें से सात लोग दूसरे स्थानों से लौटे हैं. पिछले 24 घंटों में 288 मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या 17,056 हो गई है. इस तरह तमिलनाडु में संक्रमित होने वालों की कुल तादाद बढ़कर 15.3 लाख पहुंच चुकी है. जबकि संक्रमण की स्थिति को देखते हुए तमिलनाडु सरकार ने प्रदेश में लॉकडाउन बढ़ाकर 23 मई तक करने की घोषणा कर दी है. किराने का सामान, दूध, सब्जियां बेचने वालों को भी दुकान खोलने की इजाजत सुबह 6 बजे से 10 बजे के बीच ही होगी. पहले इन्हें दोपहर तक काम करने की अनुमति दी गई थी.