तमिलनाडु में कोविड-19 के 4,328 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 1.50 लाख के करीब

तमिलनाडु में कोविड-19 के 4,328 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 1.50 लाख के करीब
तमिलनाडु में इस घातक वायरस से 66 और मौत के बाद अब तक 2,032 मरीजों की जान जा चुकी है

तमिलनाडु (Tamilnadu) में अब तक संक्रमण के कुल 1,42,798 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से अकेले चेन्नई (Chennai) में 78,573 मामले सामने आए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 13, 2020, 11:02 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. तमिलनाडु (Tamilnadu) में सोमवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के 4,328 नये मामले सामने आने के बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1.50 लाख के आंकड़े के करीब पहुंच गई. इसी दौरान 66 और लोगों की इस महामारी से मौत हो गई, जिसके बाद मृतक संख्या 2,000 के आंकड़े को पार कर गई. स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी. विभाग के बुलेटिन के मुताबिक, सोमवार को 44,560 नमूनों की जांच के साथ ही अब तक करीब 16.50 लाख नमूनों की जांच की जा चुकी है. इस घातक वायरस से 66 और मौत के बाद अब तक 2,032 मरीजों की जान जा चुकी है. मौते के नए मामलों में दो पुरुषों की आयु करीब 30 वर्ष थी जबकि अन्य 59 मरीज अन्य बीमारियों से भी ग्रसित थे.

राज्य में अब तक संक्रमण के कुल 1,42,798 मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें से अकेले चेन्नई (Chennai) में 78,573 मामले सामने आए हैं. अगर रोजाना 4,000 से अधिक नए मामले सामने आने का यह चलन जारी रहा तो आने वाले कुछ ही दिनों में संक्रमितों का आंकड़ा 1.50 लाख तक पहुंच जाएगा. दूसरी तरफ, सोमवार को 3,035 मरीज संक्रमणमुक्त हुए और अब तक राज्य में कुल 92,567 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. वर्तमान में राज्य में 48,196 मरीज उपचाराधीन हैं.

ये भी पढ़ें- खुद ट्रैक्टर चलाकर कोरोना मृतक को अंतिम संस्कार के लिए लेकर पहुंचा ये डॉक्टर



वहीं तमिलनाडु में बढ़ते मामलों के बीच एक राहत की खबर भी आई है. राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों के ठीक होने का प्रतिशत राष्ट्रीय दर से ज्यादा है. देश में कोरोना से संक्रमित होकर ठीक होने वाले लोगों का औसत 63.02 प्रतिशत है. जबकि तमिलनाडु में यह 64.66 फीसदी है. तमिलनाडु के अलावा 18 अन्य राज्य और केंद्रशासित प्रदेशों का औसत राष्ट्रीय औसत से ज्यादा है.
सिद्ध पद्धति से कोरोना मरीजों के उपचार पर होगा अनुसंधान
वहीं केंद्रीय सिद्ध अनुसंधान परिषद (सीसीआरएस) मात्र सिद्ध पद्धति से कोविड-19 मरीजों के उपचार को लेकर अनुसंधान करेगी. उल्लेखनीय है कि सीसीआरएस सिद्ध पद्धति में अनुसंधान के लिए शीर्ष निकाय है. वर्तमान समय में तमिलनाडु के स्टेनली राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल एवं अन्य सरकारी संस्थानों में कोविड-19 मरीजों को एलोपैथी के साथ-साथ सिद्ध पद्धति से उपचार दिया जा रहा है.

कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए सटीक दवा की अनुपस्थिति में राज्य सरकार सिद्ध पद्धति के सह उपचार को उम्मीद की किरण के तौर पर देख रही है.

इसके मद्देनजर, कोविड-19 के हल्के या मामूली लक्षण वाले मरीजों का उपचार करने के लिए चेन्नई के वयासारपड़ी स्थित डॉ.अंबेडकर राजकीय कला महाविद्यालय एवं जवाहर महाविद्यालय में विशेष रूप से सिद्ध कोविड-19 मरीज देखरेख केंद्र की स्थापना की गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading