लाइव टीवी

अमेरिका में भारत के राजदूत नियुक्त किए गए तरनजीत सिंह संधू: विदेश मंत्रालय

भाषा
Updated: January 28, 2020, 7:27 PM IST
अमेरिका में भारत के राजदूत नियुक्त किए गए तरनजीत सिंह संधू: विदेश मंत्रालय
तरनजीत सिंह संधू वॉशिंगटन में हर्षवर्द्धन श्रृंगला का स्थान लेंगे

भारतीय विदेश सेवा (Indian Foreign Services) के 1988 बैच के अधिकारी संधू वर्तमान में श्रीलंका (Sri Lanka) में भारत के उच्चायुक्त हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. वरिष्ठ राजनयिक तरनजीत सिंह संधू (Taranjit Singh Sandhu) को अमेरिका (America) में भारत (India) का राजदूत नियुक्त किया गया है. यह जानकारी मंगलवार को विदेश मंत्रालय ने दी.

भारतीय विदेश सेवा (Indian Foreign Services) के 1988 बैच के अधिकारी संधू वर्तमान में श्रीलंका (Sri Lanka) में भारत के उच्चायुक्त हैं. वह वॉशिंगटन (Washington) में हर्षवर्द्धन श्रृंगला का स्थान लेंगे. श्रृंगला को भारत का नया विदेश सचिव बनाया गया है.

भारत-अमेरिका के बीच बढ़ रही है भागेदारी
इस हाई प्रोफाइल पद पर उनकी नियुक्ति ऐसे समय में की गई है जब भारत-अमेरिका (India-America) के बीच सामरिक भागीदारी बढ़ रही है और अमेरिका द्वारा ईरान (Iran) के शीर्ष कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी (General Qasim Sulemani) की हत्या के बाद खाड़ी क्षेत्र में तनाव बढ़ रहा है.

साथ ही भारत और अमेरिका के अधिकारी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प (President Donald Trump) की भारत की संभावित यात्रा की तारीखों को अंतिम रूप देने में व्यस्त हैं.

ये पद संभाल चुके हैं संधू
कोलंबो में उच्चायुक्त रहने से पहले संधू वॉशिंगटन डी.सी. में जुलाई 2013 से जनवरी 2017 तक भारतीय दूतावास के उप प्रमुख थे. वह फ्रैंकफर्ट में सितम्बर 2011 से जुलाई 2013 तक महावाणिज्य दूत रहे और विदेश मंत्रालय में मार्च 2009 से अगस्त 2011 तक संयुक्त सचिव (संयुक्त राष्ट्र) रहे.30 वर्षों के कॅरियर में संधू न्यूयॉर्क में जुलाई 2005 से फरवरी 2009 तक स्थायी मिशन में पदस्थ थे.

उन्होंने पूर्व सोवियत संघ (रूस) में काम किया और यूएसएसआर के विघटन के बाद उन्हें यूक्रेन में नया दूतावास खोलने के लिए भेजा गया था. तरनजीत सिंह संधू ने ही यूक्रेन में भारतीय दूतावास की शुरुआत की थी. साल 2011 से 2013 तक वह जर्मनी में कॉन्स्यूलेट जनरल भी रह चुके हैं.

लंबे समय तक अमेरिका में किया है काम
बता दें संधू साल 1997 से लेकर 2000 तक अमेरिका में भारतीय दूतावास में सचिव के पद पर काम कर चुके हैं. इसके अलावा वो 2005 से 2009 तक संयुक्त राष्ट्र के लिए न्यूयॉर्क में भी काम कर चुके हैं. संधू अमेरिका में लंबे समय तक काम कर चुके हैं शायद यही कारण है कि उन्हें अब इतनी बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है. संधू के कई अमेरिकी सांसदों के साथ भी काफी अच्छे संबंध हैं.

संधू की पढ़ाई की बात करें तो उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से ग्रेजुएशन करने के बाद जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी से अंतर्राष्ट्रीय संबंध में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है.

ये भी पढ़ें-
कलकत्ता यूनिवर्सिटी में राज्यपाल धनखड़ का हुआ विरोध, लगे गो-बैक के नारे

पाकिस्तान आतंकी समूहों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई करे, जो सबको नजर आए: रक्षा मंत्री

 

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 4:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर