Assembly Banner 2021

मुंबई में कल से महंगा हो रहा है टैक्सी-ऑटो का सफर, जानिए कितना बढ़ेगा किराया

ट्रांसपोर्ट मंत्रालय की तरफ से नए टैरिफ कार्ड जारी कर दिए गए हैं. (फाइल फोटो: Shutterstock)

ट्रांसपोर्ट मंत्रालय की तरफ से नए टैरिफ कार्ड जारी कर दिए गए हैं. (फाइल फोटो: Shutterstock)

Mumbai Taxi-Auto Fare: किराया राशी बढ़ने के साथ ही ऑटो और टैक्सी मुंबई (Mumbai) में सफर करने के सबसे महंगे साधन बन गए हैं. 1 मार्च से ऑटो का न्यूनतम किराया 18 से बढ़कर 21 रुपये हो जाएगा. वहीं काली-पीली का किराया 22 रुपये के बजाए 25 रुपये पर होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 12:47 PM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र में ट्रांसपोर्ट मंत्रालय (Transport Ministry) ने शनिवार को नए टैरिफ कार्ड (New Tarrif Card) जारी कर दिए हैं. इसके बाद अब मुंबई में टैक्सी और ऑटो का रात में लगने वाला न्यूनतम किराया (Minimum Night Fare) बढ़ गया है. शहर में रात में यात्रा करने के लिए ऑटो में कम से कम 27 और टैक्सी में 32 रुपये खर्च करने पड़ेंगे. अधिकारियों की तरफ से जानकारी दी गई है कि ये बढ़ी हुई कीमतें 1 मार्च से लेकर 31 मई तक लागू रहेंगी. इस दौरान ड्राइवर को इलेक्ट्रॉनिक मीटर में बदलाव करने होंगे.

मुंबई में रात में टैक्सी और ऑटो से सफर करना महंगा होने जा रहा है. ट्रांसपोर्ट मंत्रालय की तरफ से नए टैरिफ कार्ड जारी कर दिए गए हैं. हालांकि, 1 जून से भाड़ा केवल इलेक्ट्रॉनिक मीटर के जरिये ही वसूला जाएगा. किराया राशी बढ़ने के साथ ही ऑटो और टैक्सी शहर में सफर करने के सबसे महंगे साधन बन गए हैं. 1 मार्च से ऑटो का न्यूनतम किराया 18 से बढ़कर 21 रुपये हो जाएगा. वहीं काली-पीली का किराया 22 रुपये के बजाए 25 रुपये पर होगा.

यह भी पढ़ें: CM योगी का बड़ा फैसला, मुंबई की तर्ज पर नोएडा में बनेगी फाइनेंस सिटी



कूल कैब के लिए किराया 28 रुपये से बढ़कर 33 रुपये पर पहुंच जाएगा. नाइट चार्जेस मध्यरात्री से लेकर सुबह 5 बजे तक लागू रहेंगे. सूत्र बताते हैं कि मुंबई में 4.6 लाख ऑटो और 60 हजार टैक्सियां मीटर रीकैलिब्रेशन दौर से गुजरेंगी. ऐसे में मीटर अपग्रेड बढ़वाने के लिए ड्राइवर को 700 रुपये खर्च करने पड़ सकते हैं. हालांकि, आरटीओ अधिकारियों ने बताया है कि मीटर प्रक्रिया को आसान करने की व्यवस्था की गई है.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत के दौरान एक वरिष्ठ आरटीओ अधिकारी ने बताया '0 पर खत्म होने वाले रजिस्ट्रेशन नंबर के वाहन 1 मार्च से 7 मार्च के बीच पहले रीकैलिब्रेशन के लिए आएंगे.' अधिकारियों ने बताया कि गाड़ियों में मीटर गाड़ी मरम्मत करने वाला लगाएगा. गाड़ियों को रोड टेस्ट के लिए मोटर व्हीकल के असिस्टेंट इंस्पेक्टर के सामने  लाया जाएगा. इसके बाद वाहन का सड़क पर एक तय दूरी तक टेस्ट होगा और मीटर के इस्तेमाल से पहले अंतिम सील लगाई जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज