अपना शहर चुनें

States

संसद का बजट सत्रः टीडीपी सांसद राममोहन नायडू ने लोकसभा स्पीकर से मांगी 'पैटर्निटी लीव'

तेलुगू देशम पार्टी के नेता और श्रीकाकुलम के सांसद राम मोहन नायडू किंजरापू ने लोकसभा स्पीकर को पत्र लिखकर 9 दिनों की पैटर्निटी लीव मांगी है.
तेलुगू देशम पार्टी के नेता और श्रीकाकुलम के सांसद राम मोहन नायडू किंजरापू ने लोकसभा स्पीकर को पत्र लिखकर 9 दिनों की पैटर्निटी लीव मांगी है.

टीडीपी सांसद राम मोहन नायडू किंजरापू (TDP MP Ram Mohan Naidu) ने अपने पत्र में कहा है कि बच्चे के पालन पोषण की जिम्मेदारी सिर्फ पत्नी की नहीं होनी चाहिए, ऐसे में वे अपनी अर्धांगिनी के साथ समान रूप से इस दायित्व को निभाना चाहते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2021, 10:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. तेलुगू देशम पार्टी के नेता और श्रीकाकुलम के सांसद राम मोहन नायडू किंजरापू (TDP MP Ram Mohan Naidu) ने लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला (Lok Sabha Speaker Om Birla) को पत्र लिखकर नौ दिनों के लिए पैटर्निटी लीव (Paternity Leave) मांगी है, बता दें कि 29 जनवरी से संसद का बजट सत्र शुरू हुआ है और वित्तमंत्री 1 फरवरी को बजट पेश करेंगी. सांसद ने अपने पत्र में कहा है कि वे जल्द ही पिता बनने वाले हैं और इस मौके पर वे अपनी पत्नी के साथ रहना चाहते हैं. नायडू ने पत्र में लिखा, "मुझे आपको बताते हुए खुशी हो रही है कि मेरी पत्नी और मैं अपने बच्चे का इस दुनिया में अगले सप्ताह तक स्वागत करने की तैयारी कर रहे हैं, लिहाजा मैं आपसे रिक्वेस्ट करता हूं कि मुझे 29 जनवरी से 10 फरवरी के बीच 9 दिनों की पैटर्निटी लीव प्रदान करें."

नायडू ने कहा कि उनकी पत्नी अपनी गर्भावस्था की तीसरी तिमाही में हैं और अगले कुछ दिन वे अपनी अर्धांगिनी के साथ होना चाहते हैं, साथ ही बच्चे के जन्म के बाद कुछ दिन अपने परिवार के व्यतीत करना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि पोषण के साथ रिश्तों का पोषण और सुरक्षित माहौल एक बच्चे के शुरुआती जीवन को आकार देने और उसके विकास में अहम भूमिका निभाता है. टीडीपी नेता ने अपने पत्र में लिखा है कि बच्चे के पालन पोषण की जिम्मेदारी सिर्फ माता की नहीं होनी चाहिए लिहाजा वे अपने बच्चे के पालन पोषण में अपनी पत्नी के साथ समान रूप से जिम्मेदारी निभाना चाहते हैं.

अपने पार्लियामेंट ट्रैक रिकॉर्ड का उदाहरण देते हुए टीडीपी नेता ने लोकसभा स्पीकर को याद दिलाया है कि वे नियमित तौर पर बहसों में हिस्सा लेते रहे हैं और मुद्दा जनित सवाल उठाते रहे हैं. नायडू ने कहा कि वे रिमोट तौर पर संसद सत्र से रूबरू होते रहेंगे और खुद को बहस और डेवलपमेंट से अपडेट रखेंगे. टीडीपी नेता ने 11 फरवरी को लोकसभा की कार्यवाही में हिस्सा लेने का वादा किया है.

तेलुगू सांसद ने अपने पत्र का अंत करते हुए कहा है कि वे लोकसभा स्पीकर की इस मसले पर अनुमति चाहते हैं, लिहाजा वे पत्र लिखने की तारीख का जिक्र नहीं कर रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज