PM नरेंद्र मोदी की वडनगर रेलवे स्‍टेशन वाली चाय की दुकान को बनाया जाएगा पर्यटनस्‍थल

PM नरेंद्र मोदी की वडनगर रेलवे स्‍टेशन वाली चाय की दुकान को बनाया जाएगा पर्यटनस्‍थल
केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति मंत्री प्रह्लाद पटेल (Prahlad Singh Patel) ने हाल में वडनगर रेलवे स्‍टेशन जाकर पीएम मोदी की चाय की दुकान को देखा और उसे सहेजने का निर्देश दिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बचपन में अपने गृहनगर वडनगर में रेलवे स्टेशन पर चाय बेचते थे. अब उसी चाय की दुकान को पर्यटनस्‍थल में तब्‍दील करने की योजना बनाई जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 2, 2019, 6:56 PM IST
  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) बचपन में अपने गृहनगर वडनगर में रेलवे स्टेशन पर चाय बेचते थे. अब उनकी उसी चाय की दुकान को पर्यटन स्‍थल के तौर पर तब्‍दील करने की योजना बनाई जा रही है. केंद्रीय पर्यटन और संस्कृति मंत्री प्रह्लाद पटेल (Prahlad Singh Patel) हाल में पीएम मोदी के गृहनगर गए थे. उन्होंने पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए उन जगहों की पहचान की, जिन्हें आने वाले समय में विकसित किया जा सकता है.

पीएम मोदी खुद कई बार कर चुके हैं स्‍टेशन पर चाय बेचने का जिक्र
प्रह्लाद पटेल वडनगर के रेलवे स्टेशन भी गए. स्‍टेशन के एक प्लेटफ़ॉर्म पर मौजूद दुकान के बारे में कहा जाता है कि पीएम मोदी ने बचपन में इस पर चाय बेचने का काम किया था. खुद पीएम मोदी कई बार इस बात का जिक्र कर चुके हैं. लोकसभा चुनाव 2014 में कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने बीजेपी की ओर से पीएम पद के प्रत्‍याशी रहे नरेंद्र मोदी के चाय बेचने की बात पर चुटकी भी ली थी.

अय्यर ने कहा था, एआईसीसी अधिवेशन में चाय बेच सकते हैं मोदी



मणिशंकर अय्यर ने तब कहा था कि मोदी 21वीं सदी में कभी देश के प्रधानमंत्री नहीं बन सकेंगे. अगर वह चाहें तो एआईसीसी अधिवेशन में चाय बेच सकते हैं. वहीं उन्‍होंने नरेंद्र मोदी के लिए चाय की दुकान खुलवाने की बात भी की थी. इसे बीजेपी और पीएम प्रत्‍याशी नरेंद्र मोदी ने बड़ा मुद्दा बना दिया था. नरेंद्र मोदी ने तब सार्वजनिक तौर पर बताया था कि उन्‍होंने स्‍टेशन पर चाय भी बेची है. बीजेपी ने इसके बाद चाय पर चर्चा अभियान भी शुरू कर दिया था.



फिलहाल गलने से बचाने को शीशे से ढकी जाएगी टीन से बनी दुकान
पर्यटन मंत्री पटेल ने वडनगर रेलवे स्‍टेशन जाकर इस चाय की दुकान को देखा. टीन की बनी इस दुकान का नीचे का हिस्सा जंग लगने से गलने लगा है. इसे बचाने के लिए पटेल ने अधिकारियों से कहा है कि दुकान को शीशे से ढका जाए. उन्होंने निर्देश दिया कि दुकान का मौजूदा स्वरूप बरक़रार रखा जाए. पटेल ने वडनगर के अन्य ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व के स्थानों का भी दौरा किया. यहां 2700 साल पुरानी धरोहरों को सहेजकर रखा गया है.

ये भी पढ़ें: 

NRC की अंतिम सूची से बाहर हुए असम के लोग आज से फॉरनर्स ट्रिब्‍यूनल में कर सकते हैं आवेदन

भारत-पाकिस्‍तान सीमा पर तैनात की जाएगी सेना की पहली खास टुकड़ी IBG
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading