Home /News /nation /

जानिए क्यों पढ़ाने के अलावा टीचर को करने होते हैं 32 ऐसे काम

जानिए क्यों पढ़ाने के अलावा टीचर को करने होते हैं 32 ऐसे काम

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

ऊपर से राइट टू एजूकेशन का नियम कि एक टीचर स्कूल में हर रोज कम से कम 7 घंटे पढ़ाएगा. एक्ट के अनुसार साल में 220 दिन स्कूल में पढ़ाना होगा.

बच्चों को पोलियों की दवा पिलाओ, पेट के कीड़े मारने वाले गोली ऐलबेंडाजोल खिलाओ. 0 से 14 वर्ष की उम्र के बच्चे क्या कर रहे हैं इसकी गिनती करो. बच्चों को मिड डे मील खिलाओ और दूध-फल का वितरण करो. उन्हें जूते-ड्रेस बांटो, किताबें बांटो.

स्कूल में अतिरिक्त कमरा बनवाओ, रंगाई-पुताई कराओ. क्षेत्र में बच्चों की गिनती करो, जनगणना करो, बीएलओ डयूटी करो, चुनाव डयूटी करो और आदेश आ जाएं तो केन्द्र सरकार की योजनाओं का सत्यापन करो. जिलास्तर पर होने वाले सरकारी आयोजनों में काम करवाओ.

देश में प्राइमरी के टीचर पढ़ाने के अलावा 32 ऐसे काम कर रहे हैं जिन्हें ज्यों का त्यों लिखना मुमकिन नहीं है. प्राथमिक शिक्षक संघ के ब्रजेश दीक्षित बताते हैं कि ऊपर से राइट टू एजूकेशन का नियम कि एक टीचर स्कूल में हर रोज कम से कम 7 घंटे पढ़ाएगा. एक्ट के अनुसार साल में 220 दिन स्कूल में पढ़ाना होगा. ऐसा न करने पर एक्ट का उल्लघंन माना जाएगा और टीचर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

आइए जानते हैं कि प्राइमरी के एक टीचर के जिम्मे हर रोज, सप्ताह में और साल में कितने और कौन-कौन से काम आते हैं.

हर महीने होने वाले काम-

स्कूल मैनेजमेंट कमेटी की बैठक

पैरेंटस-टीचर एसोसिएशन की बैठक

मदर-टीचर एसोसिएशन की बैठक

ग्राम शिक्षा समिति की बैठक

बीआरसी की बैठक

शिक्षा समिति के बैंक खाते का प्रबंधन

एसएमसी के बैंक खाते का प्रबंधन

मिड डे मील के बैंक खाते का प्रबंधन

शिक्षा निधि के बैंक खाते का प्रबंधन

वर्ष में एक बार होने वाले काम-

बालगणना

स्कूल चलो अभियान

ड्रेस वितरण

स्कूल निर्माण कार्य

रसोइयों का चयन करना

पोलियो कार्यक्रम में भाग लेना

पेट के कीड़ों की दवा खिलाना

चुनाव डयूटी करना

जनगणना

बीएलओ डयूटी

स्कूल की रंगाई-पुताई कराना

टीचर लिर्नंग मैटेरियल की व्यवस्था करना

वृक्षारोपण करना

रैपिड सर्वे करना

जिलास्तर पर आने वाले आदेश का पालन करना

हर रोज होने वाले काम-

मिड डे मील के लिए सामाना खरीदना

स्कूल की फाइलें तैयार करना

क्या कहना है सुप्रीम कोर्ट

यूनाइटेड टीचर एसोसिएशन के राजीव वर्मा का कहना है कि हालांकि टीचर को दूसरे काम में न लगाने के आदेश हैं. लेकिन इसके बाद भी टीचर से पढ़ाने के अलावा सभी काम लिए जा रहे हैं. कोर्ट के साफ आदेश हैं कि जरूरत पड़ने पर टीचर को सिर्फ दैवीय आपदा, जनगणना और चुनाव डयूटी के काम में ही लगाया जाए. लेकिन इसमे भी पहली वरीयता में टीचर नहीं रखे जाएंगे.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर