रिवर्स स्विंग के लिए टीम इंडिया ने बनाई खास स्ट्रैटजी, ऐसे पुरानी कर रही है गेंद

रिवर्स स्विंग के लिए टीम इंडिया ने 'वन बाउंस स्ट्रैटजी' बनाई है. इसके तहत जब भी कोई खिलाड़ी विकेटकीपर या गेंदबाज के पास थ्रो करेगा तो वह गेंद को हवा में न फेंककर एक बाउंस में फेंकेगा.

News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 11:27 AM IST
रिवर्स स्विंग के लिए टीम इंडिया ने बनाई खास स्ट्रैटजी, ऐसे पुरानी कर रही है गेंद
रिवर्स स्विंग के लिए टीम इंडिया ने 'वन बाउंस स्ट्रैटजी' बनाई है.
News18Hindi
Updated: July 5, 2019, 11:27 AM IST
क्रिकेट में दो गेंदों का नियम आने के बाद गेंदबाजों की परेशानी बढ़ गई है. दरअसल 50 ओवर में दो गेंदों के इस्तेमाल से गेंद इतनी पुरानी नहीं हो पा रही है कि उसे रिवर्स स्विंग मिले पाए, जिस कारण डेथ ओवर्स में गेंदबाजी करना काफी मुश्किल हो गया है. लेकिन टीम इंडिया ने इस परेशानी का तोड़ निकाल लिया है.

रिवर्स स्विंग के लिए टीम इंडिया ने 'वन बाउंस स्ट्रैटजी' बनाई है. इसके तहत जब भी कोई खिलाड़ी विकेटकीपर या गेंदबाज के पास थ्रो करेगा तो वह गेंद को हवा में न फेंककर एक बाउंस में फेंकेगा. इससे गेंद की चमक जल्दी उतरने में मदद मिलेगी और गेंद जल्दी पुरानी होगी.

केएल राहुल ने किया जिक्र

टीम इंडिया के ओपनर बल्लेबाज केएल राहुल ने वन बाउंस स्ट्रैटजी पर कहा, "सीधी सी बात है जितने ओवर फेंके जाते हैं, गेंद उतनी पुरानी होती है और रिवर्स स्विंग मिलन की संभावना बढ़ती है. लेकिन दो नई गेंद का नियम आने के बाद गेंदे इतनी पुरानी ही नहीं हो पा रही है कि रिवर्स स्विंग मिल सके. ऐसे में टीम ने सोचा कि जब आप फिल्डिंग करते हो और गेंद को एक टप्पे में विकेट के पास वापस फेंकेत हो, तो इससे भी गेंद पुरानी होती है. इसके अलावा गेंद पुरानी करने के लिए हम कुछ नहीं कर सकते."



सचिन कर चुके हैं दो गेंदों की आलोचन

गौरतलब है कि वनडे मैच की एक पारी में दो गेंदों के इस्तेमाल की पूर्व भारतीय दिग्गज सचिन तेंदुलकर भी आलोचना कर चुके हैं. वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले सचिन ने कहा था कि इंग्लैंड की पिचें रिवर्स स्विंग देने के लिए जानी जाती हैं, लेकिन वनडे में दो नई गेंदो का नियम आने की वजह से इस बार रिवर्स स्विंग कम होगा.
Loading...

ये भी पढ़ें: रोहित शर्मा ने चहल की तस्वीर पर की अजब टिप्पणी, लिखा - जूते तेरे चेहरे से बड़े हैं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 11:27 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...