तेलंगाना: जमीन हड़पने के आरोप पर CM KCR ने छीना ई राजेंद्र का मंत्रिपद, जांच के दिए आदेश

सीएम केसीआर ने छीना मंत्री का पद. (File pic)

सीएम केसीआर ने छीना मंत्री का पद. (File pic)

Telangana: सीएम केसीआर (KCR) ने कार्रवाई करते हुए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ई राजेंद्र (E Rajender) से उनका पोर्टफोलियो छीन लिया है. सीएम ने विजिलेंस विभाग से इन आरोपों की जांच करने को कहा है.

  • Share this:
बेंगलुरु. तेलंगाना (Telangana) के मुख्‍यमंत्री के चंद्रशेखर राव (K Chandrasekhar Rao) ने जमीन हड़पने के आरोपों पर अपने ही मंत्री का पद छीन लिया है. किसानों ने राज्‍य के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ई राजेंद्र के ऊपर उनकी जमीन हड़पने का आरोप लगाया था. उन्‍होंने मामले की शिकायत मुख्‍यमंत्री केसीआर से भी की थी. इसके बाद सीएम केसीआर (KCR) ने कार्रवाई करते हुए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ई राजेंद्र (E Rajender) से उनका पोर्टफोलियो छीन लिया है. सीएम ने विजिलेंस विभाग से इन आरोपों की जांच करने को कहा है.

इसके साथ ही सीएम केसीआर ने डीजी पूर्णचंद्र राव से इस मामले में जल्‍द ही प्रारंभिक रिपोर्ट सौंपने को भी कहा है. इसके बाद एक विस्‍तृत रिपोर्ट भी उनसे तैयार करने को कहा गया है. पिछले दिनों मेडक जिले के मसईपेटा मंडल के अचमपेटा और हाकिमपेटा गांवों के आठ किसानों ने सीएम केसीआर को पत्र लिखकर शिकायत की थी कि मंत्री ई राजेंद्र और उनके समर्थकों ने गैर कानूनी रूप से किसानों की जमीन हड़पी और उन्हें धमकी दी.

इस शिकायत की एक-एक कॉपी मंत्री हरीश राव, सांसद प्रभाकर रेड्डी, नरसापुर विधायक मदन रेड्डी, प्रमुख सचिव सोमेश कुमार और मेडक कलेक्‍टर हरीश को भी भेजी गई.

सीएम केसीआर को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि 1994 में सर्वे के बाद सरकार की ओर से किसानों को यह जमीन आवंटिक हुई थी. कुछ महीने पहले मंत्री ई राजेंद्र के दो समर्थकों सुरी उर्फ अली सुदर्शन और अंजला सुधाकर रेड्डी ने गैरकानूनी रूप से उनकी जमीन पर कब्‍जा किया और उनसे कहा कि सरकार उनकी जमीन वापस ले रही है. ऐसे में उन्‍होंने गरीबों की 100 एकड़ आवंटित जमीन हथिया ली. इनमें से अधिकांश भूमि पर पॉल्‍ट्री इंडस्‍ट्री का बिना किसी अनुमति का निर्माण भी है.


इन आरोपों पर मंत्री का कहना है कि उन्‍होंने कोई गलती नहीं की है. उन्‍हें साजिशन फंसाया जा रहा है. उन पर लगाए गए सभी आरोप साजिश का हिस्‍सा हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज