होम /न्यूज /राष्ट्र /दोस्ती-दुश्मनी भूल थर्ड फ्रंट को मजबूती देने में जुटे तेलंगाना सीएम KCR

दोस्ती-दुश्मनी भूल थर्ड फ्रंट को मजबूती देने में जुटे तेलंगाना सीएम KCR

तेलंगाना सीएम के चंद्रशेखर राव

तेलंगाना सीएम के चंद्रशेखर राव

पीएम मोदी के चंद्रशेखर राव के गहरे दोस्त हैं लेकिन राव ने थर्ड फ्रंट के लिए पीएम से अपनी दोस्ती ताक पर रख दी है. वहीं अ ...अधिक पढ़ें

    साक्षी खन्ना

    तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव 2019 लोकसभा चुनाव से पहले गैर-बीजेपी, गैर-कांग्रेसी थर्ड फ्रंट को मजबूत करने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं. राव ने कहा था कि वह तीसरे मोर्चे का नेतृत्व करने के लिए तैयार हैं. राव और पीएम नरेंद्र मोदी के बीच गहरी दोस्ती है ऐसे में उनके इस बयान ने कई लोगों को आश्चर्य में डाल दिया. तेलंगाना के डिप्टी सीएम कदियाम श्रीहरी ने टीडीपी प्रमुख और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू से सार्वजनिक अपील की है कि वह थर्ड फ्रंट में शामिल हों.

    श्रीहरि ने वारंगल में कहा, "यदि यह फ्रंट सत्ता में आती है तो आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिया जाएगा और सभी वादे पूरे किए जाएंगे. दोनों तेलुगु राज्यों की जनता को इसे अपना समर्थन देना चाहिए और उस राजनीतिक बदलाव का हिस्सा बनना चाहिए जो केसीआर इस देश में लाना चाहते हैं. हम चंद्रबाबू नायडू को फ्रंट में शामिल होने का न्योता देते हैं.” बता दें कि दोनों मुख्यमंत्री एक-दूसरे के कड़े प्रतिद्वंद्वी माने जाते हैं.

    केसीआर के तीसरे मोर्चे की बात ऐसे समय में सामने आई है जब बीजेपी-टीडीपी गठबंधन एक बुरे दौर से गुजर रहा है और आंध्रप्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिए जाने को लेकर टीडीपी संसद में केंद्री की बीजेपी सरकार का विरोध कर रही है. विशेष दर्जे को लेकर टीडीपी अन्य पार्टियों से भी समर्थन मांग रही है.

    पढ़ेंः केसीआर का यह गणित दिल्ली कूच के सपने को बना रहा आसान

    केंद्र और राज्य दोनों जगहों पर टीडीपी और बीजेपी का गठबंधन है. हालांकि अपना वादा पूरा नहीं करने को लेकर टीडीपी चीफ नायडू लगाता बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं. नायडू ने कहा था, “बीजेपी को नहीं भूलना चाहिए कि जनता ने कांग्रेस को कैसे सबक सिखाया. हम कोई फेवर नहीं मांग रहे. आंध्र प्रदेश-तेलंगाना के बंटवारे के वक्त हमसे जो वादा किया गया था उसे पूरा करने की मांग कर रहे है.”

    दूसरी तरफ टीआरएस और टीडीपी एक-दूसरे का सहयोग करती नजर आ रही हैं. हाल ही में रिऑर्गनाइजेश एक्ट के तहत किए गए वादों को पूरा करने की मांग में टीआरस सांसदों ने टीडीपी सांसदों का संसद में सहयोग किया था.

    अपने हालिया बयान में नायडू ने तेलंगाना में टीआरएस से चुनावी गठबंधन के संकेत दिए थे. तेलंगाना के टीडीपी कार्यकर्ताओं से बात करते हुए नायडू ने कहा था कि बीजेपी ने तेलंगाना में टीडीपी के साथ अपने गठबंधन का एकतरफा फायदा उठाया और कांग्रेस ने भी राज्य के साथ न्याय नहीं किया. ऐसे में हमारे पास उस पार्टी के साथ जुड़ने का विकल्प है जिसने तेलंगाना को अलग राज्य बनाने की लड़ाई लड़ी, वह तेलंगाना राष्ट्र समिति है.

    पढ़ेंः थर्ड फ्रंट के लिए केसीआर को ममता-ओवैसी का साथ, सपा-शिवसेना से हो रही बात

    तीसरे मोर्चे के लिए केसीआर को अब तक तृणमूल कांग्रेस लीडर और पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, AIMIM चीफ असदुद्दीन औवैसी, जनसेना चीफ पवन कल्याण, छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस पार्टी चीफ और छत्तीसगढ़ के पहले सीएम अजीत जोगी और झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन का समर्थन मिल चुका है. केसीआर समाजवादी पार्टी और डीएमके जैसी पार्टियों से भी बात कर रहे हैं.

    Tags: K Chandrashekhar Rao

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें