• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • सिर से जुड़ी बच्चियों ने पास की 10वीं की परीक्षा, पापा का सपना- इंजीनियर बनें

सिर से जुड़ी बच्चियों ने पास की 10वीं की परीक्षा, पापा का सपना- इंजीनियर बनें

सिर से जुड़ी बच्चियां वाणी और वीणा (फोटो- News18)

सिर से जुड़ी बच्चियां वाणी और वीणा (फोटो- News18)

अधिकारियों ने वीणा और वाणी (Veena and Vani) को एक ही परीक्षा केंद्र (Examination Center) में लेकिन अलग-अलग हॉल टिकटों (Hall Tickets) पर, दसवीं कक्षा की परीक्षा देने की अनुमति दे दी. ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि दोनों ने अलग-अलग परीक्षा लिखने की इच्छा व्यक्त की थी.

  • Share this:
    (पीवी रमना कुमार)

    हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) की सिर से जुड़ी हुई बच्चियां वीणा और वाणी ने माध्यमिक स्कूल प्रमाणपत्र (कक्षा 10- Class-10) की परीक्षा पास कर ली है. वीना को 9.3 ग्रेड प्वाइंट एवरेज (GPA) और वाणी को 10 में से 9.2 GPA मिला है. उन्होंने मधुरा नगर के पृथ्वी स्कूल में अलग-अलग अपनी SSC परीक्षाएं लिखी थीं. दोनों ने तीन परीक्षाओं (Examinations) में जवाब लिखे थे, जिसके बाद सरकार ने COVID-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के चलते बाकी परीक्षाओं को रद्द कर दिया था. हाल ही में, शिक्षा विभाग (Education Department) ने परीक्षा देने वाले लगभग 5.34 लाख स्टूडेंट्स के परिणामों की घोषणा की और छात्रों के पहले प्रदर्शन के अनुसार उन्हें जीपीए दिया गया.

    वीना और वाणी ने न्यूज 18 को बताया, “हम दसवीं की परीक्षा (tenth exams) पास करने पर बहुत खुश हैं और सभी जरूरी व्यवस्थाओं (necessary arrangements) के लिए सरकार के आभारी हैं. अभी हमारे पास भविष्य की कोई योजना नहीं है. लेकिन हम प्लस टू (10+2) में MEC लेना चाहते हैं.”

    वीना और वाणी के पिता ने कहा, "दोनों को बनना चाहिए इंजीनियर"
    वीना और वाणी के पिता मुरली ने News18 को बताया, “मैं दोनों को अच्छे पदों पर देखना चाहता हूं. उन्हें आईटी प्रोफेशनल (इंजीनियर) बनना चाहिए. ताकि वे साथ काम कर सकें और साथ रह सकें.”

    वीना और वाणी ने वेंगलराव नगर के सरकारी हाई स्कूल में प्रवेश संख्या 5618 और 5619 के साथ एडमिशन लिया था. तेलंगाना सरकार ने उनकी शिक्षा के लिए विशेष इंतजाम किए थे और घर में भी उन्हें पढ़ाया जाता था.

    सरकारी निर्देश के मुताबिक दोनों का हुआ था सरकारी हाईस्कूल में एडमिशन
    दिसंबर 2019 में, जिला शिक्षा अधिकारी ने सरकार को एक पत्र लिखा था, जिसमें लड़कियों की सहायता करने के लिए अनुमति और इस पर स्पष्टता मांगी गई थी कि कैसे उनकी मदद की जा सकती है. नियमों के अनुसार, ओपन स्कूल प्रणाली के छात्र जो परीक्षाओं में लिखना चाहते हैं, उन्हें किसी भी सरकारी या निजी स्कूल में खुद को नामांकित करना होता है.

    दोनों ने अलग-अलग परीक्षा देने की जताई थी इच्छा
    जिसके अनुसार, वीणा और वाणी को उनके ज्ञान और क्षमताओं के मूल्यांकन के बाद वेंगलराव नगर, हैदराबाद में एक सरकारी हाई स्कूल में भर्ती कराया गया था.

    यह भी पढ़ें:- लद्दाख पहुंचे आर्मी चीफ एमएम नरवणे, घायल जवानों से अस्पताल में की मुलाकात

    अंतत:, अधिकारियों ने वीणा और वाणी को एक ही परीक्षा केंद्र में लेकिन अलग-अलग हॉल टिकटों पर, दसवीं कक्षा की परीक्षा देने की अनुमति दे दी. ऐसा इसलिए किया गया क्योंकि दोनों ने अलग-अलग परीक्षा लिखने की इच्छा व्यक्त की.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज