खुद ट्रैक्टर चलाकर कोरोना मृतक को अंतिम संस्कार के लिए लेकर पहुंचा ये डॉक्टर

खुद ट्रैक्टर चलाकर कोरोना मृतक को अंतिम संस्कार के लिए लेकर पहुंचा ये डॉक्टर
कोरोना मृतक को अंतिम संस्कार के लिए ट्रैक्टर से ले जाते डॉ. पेंडल्या श्रीराम. (तस्वीर-ANI)

तेलंगाना (Telangana) के पेड्डापल्ली जिले के डॉ. पेंडल्या श्रीराम (Pendalya Sriram) जिला सर्विलांस अधिकारी हैं. श्रीराम ने खुद ही ट्रैक्टर चलाकर डेडबॉडी को श्मशान घाट तक पहुंचाया जिससे अंतिम संस्कार किया जा सके.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 13, 2020, 11:09 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) के एक डॉक्टर (Doctor) ने कोरोना (Covid-19) की वजह से दम तोड़ने वाले मरीज को खुद ट्रैक्टर से श्मशान घाट तक पहुंचाया. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद लोग उस डॉक्टर को 'रीयल हीरो' करार दे रहे हैं. दरअसल, तेलंगाना के पेड्डापल्ली जिले के डॉ. पेंडल्या श्रीराम (Pendalya Sriram) जिला सर्विलांस अधिकारी हैं.

सरकारी अस्पताल में हुई मरीज की मौत
जिले के एक सरकारी अस्पताल में कोरोना की वजह से एक मरीज की मौत हो गई थी. हॉस्पिटल स्टाफ द्वारा पेंडल्या श्रीराम को इसकी जानकारी दी गई. स्थानीय नगर के कर्मचारियों ने एक ट्रैक्टर की व्यवस्था की लेकिन उसका ड्राइवर नहीं मौजूद था. कहा जा रहा है कि कोरोना मरीज से संक्रमण फैल जाने की वजह से ड्राइवर वहां नहीं पहुंचा था. ऐसी स्थिति देखकर पेंडल्या श्रीराम ने खुद ही ट्रैक्टर चलाकर डेडबॉडी को श्मशान घाट तक पहुंचाया जिससे अंतिम संस्कार किया जा सके.

'मैंने जो कुछ किया वो मेरी ड्यूटी का हिस्सा था'
टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक पेंडल्या श्रीराम ने बताया है- मैंने जो कुछ किया वो मेरी ड्यूटी का हिस्सा था. मरीज की मौत हुए 6 घंटे से ज्यादा का वक्त बीत चुका था. उनके परिवारीजन परेशान हो रहे थे. अस्पताल का स्टाफ भी डेडबॉडी पड़े हुए देखकर चिंतित हो रहा था. अब चूंकि मैं शहर का सर्विलांस ऑफिसर हूं, इसलिए मैंने ही डेडबॉडी ले जाने का फैसला किया. ये हमारी ड्यूटी है कि किसी भी मृतक का अंतिम संस्कार सही तरीके से पूरा हो.'





होम आइसोलेशन में था मरीज
गौरतलब है जिस मरीज की मौत हुई थी वो 10 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था और होम आइसोलेशन में था. 12 जुलाई को उसकी तबीयत बहुत ज्यादा बिगड़ गई तो उसे अस्पताल पहुंचाया गया. पेंडल्या श्रीराम ने बताया कि अस्पताल के पास कोई एंबुलेंस नहीं है और न ही कोई शवगृह. लेकिन शहर के डीएम ने अस्पताल को पर्याप्त पीपीई किट उपलब्ध करवाए हैं. साथ डेडबॉडी कवर करने के लिए बैग्स भी पर्याप्त हैं. स्टाफ ने मरीज की मौत के बाद डेडबॉडी पैक कर दी थी लेकिन फिर उसे ले जाने वाला कोई नहीं था. राज्य के वित्त मंत्री टी हरीश राव ने भी पेंडल्या श्रीराम की तारीफ की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading