तेलंगाना: कोरोना से डोनाल्ड ट्रंप के ठीक होने के लिए भूखे रहकर प्रार्थना कर रहे किसान की मौत

बूसा कृष्ण राजू ने 1.30 लाख रुपये खर्च करके अपने घर पर अमेरिकी राष्ट्रपति की ट्रंप की छह फीट की मूर्ति भी स्थापित की थी (Twitter)
बूसा कृष्ण राजू ने 1.30 लाख रुपये खर्च करके अपने घर पर अमेरिकी राष्ट्रपति की ट्रंप की छह फीट की मूर्ति भी स्थापित की थी (Twitter)

बूसा कृष्ण राजू के दोस्तों ने बताया कि वह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का बहुत बड़ा फैन था. उसने पिछले साल अपने घर के आंगन में ट्रंप की छह फीट की प्रतिमा स्थापित की थी और रोज उसकी पूजा करता था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 12, 2020, 10:30 AM IST
  • Share this:
मेडक (तेलंगाना). अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के कोरोना संक्रमित (Coronavirus Positive) होने के बाद उनके स्वास्थ्य के लिए कई दिनों तक भूखे रहने वाले एक किसान की रविवार को मौत हो गई. बूसा कृष्ण राजू बिना सोए पिछले कई दिनों से भूखे पेट ट्रंप के स्वस्थ होने के लिए प्रार्थना कर रहा था. नींद पूरी न होने और भूख के चलते रविवार को उसे हृदयघात आया और अस्पताल ले जाने से पहले ही उसकी मौत हो गई.

बूसा कृष्ण राजू तेलंगाना के मेडक जिले के तुफरान इलाके में रहने वाला था. उसके दोस्तों ने बताया कि वह अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का बहुत बड़ा फैन था. उसने पिछले साल अपने घर के आंगन में ट्रंप की छह फीट की प्रतिमा स्थापित की थी. रोज उसकी पूजा करता था. पिछले दिनों ट्रंप के कोरोना संक्रमित होने के बाद से बहुत परेशान था.

इंसान से मिंक में पहुंचा कोरोना वायरस, अमेरिका में 10 हजार की मौत



दोस्त के मुताबिक, उसने पिछले तीन-चार दिनों से अमेरिकी राष्ट्रपति के ठीक होने के लिए बिना सोए लगातार भूखे रहकर प्रार्थना की. जिसका सीधा असर उसकी तबीयत पर होने लगा. राजू बीमार और कमजोर हो गया था.
बूसा कृष्ण राजू ने 1.30 लाख रुपये खर्च करके अपने घर पर अमेरिकी राष्ट्रपति की ट्रंप की छह फीट की मूर्ति भी स्थापित की थी. वह ट्रंप के लिए रोज प्रार्थना करते थे और उनके गांव में उन्हें 'ट्रंप कृष्णा' के रूप में जाना जाता था. एक छोटे किसान कृष्णा ने कहा था कि वह ट्रंप के अमेरिकी राष्ट्रपति बनने के बाद से कई मुद्दों को लेकर उनके बहुत बड़े प्रशंसक बन गए थे.

कोरोना से ठीक हो गए डोनाल्ड ट्रंप, शनिवार से पब्लिक इवेंट में ले सकते हैं हिस्सा

दोस्तों के मुताबिक, लोगों ने ट्रंप की प्रतिमा स्थापित करने और इसकी पूजा करने को लेकर उनका खासा मजाक उड़ाया और उन्हें मनोचिकित्सक से मिलने तक की सलाह दी थी. फिर भी ट्रंप के प्रति उनका प्यार कम नहीं हुआ.

स्कूली पढ़ाई अधूरी छोड़ने वाले कृष्णा की वैश्विक राजनीति में गहरी दिलचस्पी थी. उनकी इच्छा थी, ट्रंप फिर से चुनाव जीतें और चीन से निपटें. इस साल की शुरुआत में जब ट्रंप भारत आए थे तो कृष्णा ने केंद्र सरकार से अपील की थी कि वह अमेरिकी नेता से उन्हें मिलवाने की व्यवस्था करें. हालांकि, उनकी अपने 'भगवान' से मिलने की इच्छा अधूरी ही रह गई. (PTI इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज