लाइव टीवी

तेलंगाना सरकार ने बस कर्मियों को दी आखिरी चेतावनी, कहा- नहीं लौटे तो निजी बसों को मिल जाएगा परमिट

News18Hindi
Updated: November 4, 2019, 11:37 PM IST
तेलंगाना सरकार ने बस कर्मियों को दी आखिरी चेतावनी, कहा- नहीं लौटे तो निजी बसों को मिल जाएगा परमिट
TSRTC नेता ने कहा कि लेकिन मुख्यमंत्री एकतरफा फैसले ले रहे हैं.

कई मांगों को लेकर TSRTC की बेमियादी हड़ताल 30 दिनों से जारी है. टीएसआरटीसी-जेएसी नेता ई अश्वत्थामा रेड्डी ने कहा कि मुख्यमंत्री (CM K. Chandrashekhar Rao) कर्मचारियों में भरोसा पैदा नहीं कर पाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 4, 2019, 11:37 PM IST
  • Share this:
हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) के मुख्यमंत्री कार्यालय (Cmo telangana) की ओर से राज्य सड़क परिवहन निगम (टीएसआरटीसी TSRTC) के कर्मचारियों को अंतिम चेतावनी दी गई है. मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव (K. Chandrasekhar Rao) के कार्यालय की ओर से जारी किए गए एक बयान में कहा गया है कि राज्य सरकार ने उन सड़क परिवहन निगम (आरटीसी RTC) के कर्मचारियों और श्रमिकों को वापस नौकरी पर नहीं रखेगी जो मंगलवार आधी रात तक ड्यूटी पर वापस नहीं आएंगे.

सीएमओ की ओर से कहा गया है कि 'सरकार ने यह स्पष्ट किया कि यदि श्रमिक और कर्मचारी शेष 5000 रूट्स पर समय सीमा समाप्त होने के पहले काम पर नहीं लौटते तो निजी बसों को परमिट दिया जाएगा और फिर सड़क परिवहन निगम (आरटीसी) की राज्य में कोई इकाई नहीं होगी.'

तेलंगाना सरकार के अधिकारियों ने जताई उम्मीद
इससे पहले अधिकारियों ने उम्मीद जतायी है कि मंगलवार को बड़ी संख्या में हड़ताली कर्मचारी काम पर लौट आएंगे क्योंकि राज्य सरकार ने काम पर लौटने की समय सीमा पांच नवंबर तय की है. आरटीसी के सूत्रों के मुताबिक, रविवार को बहुत कम कर्मचारी काम पर लौटे.

मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने शनिवार को कहा था कि राज्य मंत्रिमंडल ने निजी ऑपरेटरों को 10,400 रूटों में से 5,100 आवंटित करने का फैसला किया है और चेतावनी दी है कि हड़ताली कर्मचारी अगर 5 नवंबर की मध्यरात्रि तक काम पर नहीं लौटते हैं, तो निजी ऑपरेटरों को अन्य मार्ग भी दे दिए जाएंगे. आरटीसी कर्मचारियों ने सोमवार को विभिन्न स्थानों पर विरोध प्रदर्शन जारी रखा. आज उनकी हड़ताल का 31 वां दिन है.

यह भी पढ़ें: तेलंगाना में महिला तहसीलदार को उसके ऑफिस में पेट्रोल डालकर जिंदा जलाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 4, 2019, 11:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...