Telangana Rains: बाढ़ का जायजा लेने पहुंचे TRS विधायक पर लोगों ने बरसाए चप्पल, वीडियो वायरल

मेडिपल्ली पहुंचे विधायक पर लोगों ने उछाले चप्पल (Video Grab)
मेडिपल्ली पहुंचे विधायक पर लोगों ने उछाले चप्पल (Video Grab)

तेलंगाना (Telangana) के ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (GHMC) के आसपास के इलाकों में जबर्दस्त बारिश हुई थी. सरकार ने दावा किया है कि सरकारी तंत्र जान-माल का नुकसान सीमित करने में कामयाब रहा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 10:40 AM IST
  • Share this:
अमरावती. तेलंगाना में बीते दिनों हुई बारिश (Telangana Rains) में लोगों का बहुत नुकसान हुआ. एक सरकारी आंकड़े के अनुसार कम से कम 5,000 करोड़ रुपए के नुकसान की आशंका जाहिर की गई है. सरकार की ओर से कहा गया है कि भारी बारिश के चलते बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई और इसके चलते अलग-अलग हादसों में 50 लोगों की मौत हो गई.

राज्य के इब्राहिमपटनम में भी कई इलाकों को भारी बारिश और बाढ़ का सामना करना पड़ा. इसके बाद यहां की ताजा स्थिति का जायजा लेने के लिए पहुंचे विधायक और उनके समर्थकों को लोगों के गुस्से का शिकार होना पड़ा. लोगों ने उनपर चप्पलों की बरसात कर दी.

विधायक पर फेकें चप्पल
मिली जानकारी के अनुसार, घटना गुरुवार की है. इब्राहिमपटनम ( Ibrahimpatnam ) के विधायक मचीरेड्डी किशन रेड्डी ( Manchireddy Kishan Reddy) और अन्य टीआरएस कार्यकर्ता जब बाढ़ प्रभावित मेडिपल्ली क्षेत्र के दौरे पर पहुंचे तो स्थानीय लोगों ने उन पर चप्पल फेंकी. इतना ही नहीं लोगों ने विधायक की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की. इस घटना का वीडियो भी वायरल हो गया.
गौरतलब है कि मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में अधिकारियों ने बताया कि मूसलाधार बारिश और अचानक आयी बाढ़ में कम से कम 50 लोगों की मौत हो गई. वहीं ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (जीएचएमसी) क्षेत्र में 11 लोगों की मौत हो गई.





शुरुआती अनुमानों के आधार पर राव ने कहा कि बुधवार को हुई भारी बारिश के कारण निचले इलाकों में अचानक आयी बाढ़ के कारण राज्य में 5,000 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ.राव ने कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर राहत और पुनर्वास कार्यों के लिए तुरंत 1,350 करोड़ रुपये जारी करने का आग्रह किया है.

राहत और बचावकार्य जारी
दूसरी ओर भीषण बारिश से प्रभावित हैदराबाद और अन्य स्थानों में राहत अभियान गुरुवार भी जारी रहा. मूसलाधार बारिश के कारण निचले इलाकों में बाढ़ आ गई और संपत्ति तथा खड़ी फसल को नुकसान पहुंचा.

राज्य के मुख्य सचिव सौमेश कुमार ने बताया कि राहत दल उन इलाकों से पंप के जरिए पानी को निकाल रहे हैं जहां जलभराव हो गया था. साथ में वहां लोगों की मदद कर रहे हैं तथा यातायात को बहाल कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि 61 राहत केंद्रों का संचालन किया जा रहा है तथा जरूरत पड़ने पर और केंद्र खोले जा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज