• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • तेलंगाना में COVID-19 के सबसे कम टेस्ट, महामारी से लड़ने को सिर्फ कड़े लॉकडाउन पर निर्भर रहा राज्य

तेलंगाना में COVID-19 के सबसे कम टेस्ट, महामारी से लड़ने को सिर्फ कड़े लॉकडाउन पर निर्भर रहा राज्य

तेलंगाना ने प्रतिदिन सिर्फ 200 से कुछ अधिक की दर से कोरोना के मामलों की टेस्टिंग की है (सांकेतिक फोटो, Reuters)

तेलंगाना ने प्रतिदिन सिर्फ 200 से कुछ अधिक की दर से कोरोना के मामलों की टेस्टिंग की है (सांकेतिक फोटो, Reuters)

यह देश (Country) में किसी राज्य में टेस्टिंग (Testing) का सबसे कम आंकड़ा है. हालांकि, सूत्रों के मुताबिक, अधिकारियों के पास परीक्षण बढ़ाने की कोई योजना नहीं है. राज्य अभी तक पर्याप्त रूप से परीक्षण और COVID-19 डेटा की जानकारी साझा नहीं कर रहा था.

  • Share this:
    हैदराबाद. तेलंगाना (Telangana) में कोविड-19 (Covid-19) जांच के लिए किये जा रहे परीक्षणों की संख्या पर काफी दिनों तक गोपनीयता बनाए रखने के बाद, राज्य के स्वास्थ्य विभाग (Health Department) ने सोमवार को कहा कि 14 मई तक राज्य में 22,842 परीक्षण किए गए हैं.

    यह देश (Country) में किसी राज्य में टेस्टिंग (Testing) का सबसे कम आंकड़ा है. हालांकि, सूत्रों के मुताबिक, अधिकारियों के पास परीक्षण बढ़ाने की कोई योजना नहीं है. राज्य अभी तक पर्याप्त रूप से परीक्षण और COVID-19 डेटा की जानकारी साझा नहीं कर रहा था.

    राज्य में 200 टेस्ट प्रति दिन की औसत से की गई टेस्टिंग
    सरकार की ओर से परीक्षण की अंतिम आधिकारिक सूचना 30 अप्रैल को दी गई थी, जब मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने बताया था कि स्वास्थ्य विभाग ने अब तक लगभग 19,325 नमूनों का परीक्षण किया है.

    जिसका मतलब यह है कि यहां लगभग प्रति दिन 200 से कुछ ही अधिक परीक्षण हो रहे थे, जो दक्षिणी भारत के राज्यों में सबसे कम है. मई के पहले दो हफ्तों में इसने लगभग 3,500 परीक्षण किए हैं, वह भी तब, जब इसकी राजधानी हैदराबाद (Hyderabad) को केंद्र ने वायरस हॉटस्पॉट घोषित किया हुआ है.

    दक्षिण के सभी पड़ोसी राज्यों में इससे कहीं ज्यादा लोगों के हुए टेस्ट
    पड़ोसी राज्य आंध्र प्रदेश, जो हाल ही में परीक्षण में तेजी लेकर आया है, प्रति दिन 5,000 से अधिक परीक्षणों के साथ अब तक दो लाख से अधिक (2,01,196) परीक्षण कर चुका है.

    कर्नाटक (Karnataka) ने 1,28,373 सैंपल, तमिलनाडु 2,79,467 सैंपल का परीक्षण किया है, जबकि केरल ने इसी अवधि में (14 मई तक) 39,380 सैंपल के परीक्षण किए हैं.

    टेस्टिंग, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और क्वारंटाइन ही कोरोना से बचने के सही उपाय: डॉक्टर
    एक वरिष्ठ चिकित्सक ने कहा कि स्वास्थ्य राज्य का विषय है और संकट से निपटने के लिए सक्रिय उपायों की आवश्यकता है. डॉक्टर ने नाम न जाहिर करने की शर्त पर News18 से कहा, "परीक्षण कंटेनमेंट जोन में वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने का बेहतरीन उपाय है. केवल लॉकडाउन COVID-19 से लड़ने में मदद नहीं करेगा, परीक्षण को तेज करने की आवश्यकता है." उन्होंने कहा कि कम टेस्टिंग चिंता की वजह है, विशेषकर तेलंगाना जैसे राज्य के लिए जो कि आर्थिक गतिविधियों के लिए हैदराबाद पर बहुत अधिक निर्भर है.

    उन्होंने आगे कहा कि किसी भी राज्य के लिए अधिक कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग करना, अधिक परीक्षण करना और अच्छी क्वारंटाइन सुविधाएं (Quarantine Facilities) देना ही सही तरीका होगा.

    यह भी पढ़ें: पिछले 24 घंटे में ठीक हुए 2715 लोग, देश में कोरोना मरीजों का रिकवरी रेट 38.29%

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज