होम /न्यूज /राष्ट्र /गधी के दूध में इतना फायदा कि शख्स ने 18 एकड़ में खोल दिया फार्म, जानें खासियत

गधी के दूध में इतना फायदा कि शख्स ने 18 एकड़ में खोल दिया फार्म, जानें खासियत

तेलंगाना के अखिल ने 18 एकड़ भूमि में गधी पालने के लिए फार्म बनाया है. (फोटो ANI)

तेलंगाना के अखिल ने 18 एकड़ भूमि में गधी पालने के लिए फार्म बनाया है. (फोटो ANI)

गधी की दूध की कीमत बाजार में लगभग 7,000 प्रति लीटर है. गधी के दूध का व्यवसाय अब व्यवसाय का प्रमुख केंद्र बनता जा रहा है ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

तेलंगाना के अखिल ने 18 एकड़ भूमि में गधी पालने के लिए फार्म बनाया है.
इसमें 1 करोड़ रुपये से अधिक की पूंजी का उपयोग किया गया है.
कुछ शोधकर्ताओं का मानना है कि गधी का दूध टाइप II मधुमेह के इलाज में मदद कर सकता है.

हैदराबाद. इन दिनों तेलंगाना में गधी के दूध का व्यवसाय फल फूल रहा है. यह अब एक प्रमुख व्यवसाय का केंद्र बनता जा रहा है. इस दूध को बाजार में लगभग 7,000 प्रति लीटर बेचा जा रहा है. बता दें कि हैदराबाद शहर में गाय या भैंस के दूध की कीमत प्रति लीटर 100 से ज्यादा नहीं जाती है. गधी के दूध की मांग को पूरा करने के लिए, कई किसान अब इस जानवर को पाल रहे हैं. इसी में से एक हैं अखिल. अखिल इन दिनों अपने इस व्यवसाय को बढ़ाने में लगे हैं.

न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार अखिल कहते हैं गधी पालन में हमारा फार्म राज्य में पहले और भारत में तीसरे स्थान पर है. यह लगभग 18 एकड़ भूमि वाला सबसे बड़ा फार्म है. हमने 1 करोड़ रुपये से अधिक की पूंजी का उपयोग किया है. गधी के दूध की डिमांड बहुत ज्यादा है और सप्लाई कम है. इसलिए मैंने यह फार्म शुरू किया है.

अलग-अलग अध्ययनों के अनुसार, गधी के दूध में लगभग 80 प्रतिशत बैक्टीरिया में लैक्टिक एसिड बैक्टीरिया होता है, जो इसे पेट की गड़बड़ी को रोकने में प्रभावी बनाता है. इसलिए हैदराबाद में कई परिवार स्वास्थ्य लाभ के लिए इसकी तलाश करते हैं. हालांकि गाय और बकरी का दूध प्रोटीन से भरपूर होता है, गधी के दूध को विटामिन और मिनरल से भी भरपूर माना जाता है. कुछ शोधकर्ताओं का मानना है कि यह टाइप II मधुमेह के इलाज में मदद कर सकता है. हालांकि, अभी इसके बारे में कोई सबूत नहीं है.

पढ़ें- OMG! ‘भूत’ की 4 पेज की चिट्ठी आई सामने, सबसे पहले लिखा- आत्‍मा का सत्‍य वचन; पढ़ें पूरी कहानी

वहीं कर्नाटक में इसी साल एक 42 वर्षीय आईटी पेशेवर ने सॉफ्टवेयर कंपनी की नौकरी छोड़ दी और भारत में अपनी तरह का पहला गधी फार्म शुरू किया. अन्य नए उद्यमी भी इस व्यवसाय की लोकप्रियता को देखते हुए इस व्यवसाय को शुरू किया है. माना जा रहा है कि भविष्य में गधी का दूध बेचने के व्यापार में कई धनी व्यवसायी इसमें निवेश कर सकते हैं.

Tags: Business, Milk

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें