Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    क्या कोरोना वायरस से संक्रमित हैं तेलंगाना के मुख्यमंत्री? हाईकोर्ट में याचिका दाखिल

    तेलंगाना हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है जिसमें पूछा गया है कि केसीआर कहां हैं (फाइल फोटो)
    तेलंगाना हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई है जिसमें पूछा गया है कि केसीआर कहां हैं (फाइल फोटो)

    याचिका उस अफवाह के बाद दाखिल की गई है जिसमें कहा जा रहा था कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (CM K Chandrashekhar Rao) कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाए गए हैं.

    • Share this:
    हैदराबाद. तेलंगाना हाईकोर्ट (Telanaga) में एक रिट याचिका दाखिल की गई है. इस याचिका में पूछा कहा है कि "केसीआर (KCR) कहां हैं?" ये याचिका उस अफवाह के बाद दाखिल की गई है जिसमें कहा जा रहा था कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (CM K Chandrashekhar Rao) कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमित पाए गए हैं. ये याचिका तेलंगाना के बहुचर्चित पत्रकार नवीन (मल्लना) ने दाखिल की है. सीएम केसीआर इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव (PV Narsimha Rao) के जन्म शताब्दी समारोह में पिछले माह दिखाई दिये थे. इस याचिका में नवीन ने कई मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से लिखा है कि सीएम के कार्यालय और निवास प्रगति भवन में तकरीबन 30 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए हैं. इस याचिका में इन लोगों के स्वास्थ्य को लेकर भी सवाल उठाए गए हैं. हालांकि इस पर अभी आधिकारिक तौर पर कोई बयान नहीं जारी किया गया है.

    बता दें तेलंगाना में अब तक 27,612 केस सामने आए हैं जिसमें से 16287 लोग ठीक हुए है जबकि 313 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं इससे पहले मंगलवार को के चंद्रशेखर राव नीत सरकार के हैदराबाद में स्थित पुराने सचिवालय की इमारत तोड़ने के काम को शुरू करने की भी खबर सामने आई थी. इस सचिवालय की जगह नए सचिवालय परिसर के निर्माण को चुनौती देने वाली कई याचिकाओं को तेलंगाना उच्च न्यायालय ने कुछ दिन पहले ही खारिज कर दिया जिसके बाद इमारत को तोड़ने का काम शुरू हो गया.

    ये भी पढ़ें- पालघर में 7 महीने के बच्चे की संदिग्ध मौत, कुछ घंटे पहले पी थी पोलियो की दवा



    तेलंगाना में ढहाई जा रही सचिवालय की इमारत
    आधिकारिक सूत्रों ने बताया, ‘‘ सचिवालय की इमारत ढहाने का कार्य मंगलवार तड़के शुरू हुआ और यह आज चलेगा.’’ कांग्रेस और भाजपा समेत विपक्षी दलों ने ऐसे वक्त में इस परियोजना पर काम शुरू करने को लेकर सरकार को आड़े हाथों लिया जब कोविड-19 महामारी से निपटना उसकी तात्कालिक प्राथमिकता होनी चाहिए. हालांकि सतारूढ़ दल ने कहा कि उच्च न्यायालय से इस पर स्थगन हटने के बाद ढहाने का काम शुरू किया गया है और राज्य को एक सुनियोजित सचिवालय की जरूरत है.

    मुख्यमंत्री कार्यालय ने मंगलवार को ‘एकीकृत सचिवालय नई इमारत’ का डिजाइन जारी किया, यह नयी इमारत पुरानी इमारत के स्थान पर बनेगी. केसीआर कार्यालय से जानकारी मिली है कि राव इस डिजाइन को मंजूरी दे सकते हैं.

    ये भी पढ़ें- जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान ने फिर तोड़ा सीजफायर, गोलीबारी में 2 नागरिक घायल

    केसीआर ने 27 जून को रखी थी आधारशिला
    पिछले साल 27 जून को राव ने नए प्रशासनिक परिसर की आधारशिला रखी थी लेकिन इसके बाद इस निर्माण का विरोध करते हुए कई याचिकाएं उच्च न्यायालय में डाली गईं जिनमें कहा गया था कि इससे बेवजह राज्य के कोष पर बोझ पड़ेगा. राज्य सरकार ने पहले ऐसे संकेत दिये थे कि इमारत के निर्माण में 400 करोड़ रुपये का खर्चा आएगा और यह एक अत्याधुनिक इमारत होगी. यह इमारत करीब चार लाख वर्गफुट में बनेगी. सूत्रों के अनुसार नये सचिवालय में ‘वास्तु का पूरा’ पालन किया जाएगा. (भाषा के इनपुट सहित)
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज