Home /News /nation /

लद्दाख में सीमा पर बढ़ी टेंशन, चीन के टेंट और फौजी गाड़ियां दिखींं, भारत ने भी बढ़ाई सेना की तैनाती

लद्दाख में सीमा पर बढ़ी टेंशन, चीन के टेंट और फौजी गाड़ियां दिखींं, भारत ने भी बढ़ाई सेना की तैनाती

रूस में 24 जून को दमखम दिखाएंगी भारतीय सेनाएं (File Photo)

रूस में 24 जून को दमखम दिखाएंगी भारतीय सेनाएं (File Photo)

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के 1200 जवान सीमा पर तैनात दिख रहे हैं. यहां कई बंकर भी दिख रहे हैं. इसके जवाब में भारत ने भी सैनिकों की संख्या बढ़ा दी है.

    नई दिल्ली. भारत और चीन के बीच सीमा पर टेंशन लागतार बढ़ती जा रही है. लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास पैंगोंग सो झील और गलवान घाटी में चीनी सेना तेजी से अपने सैनिकों की संख्या बढ़ा रही है. पिछले दो हफ्ते से चीन ने इन इलाकों में सौ से ज्यादा टेंट बना डाले हैं. इस बीच हालात की गंभीरता को देखते हुए भारत ने भी अपने सैनिकों की तैनाती यहां बढ़ा दी है.

    भारतीय सेना तैयार
    अंग्रेजी अखबार द टाइम्स ऑफ इंडिया ने दावा किया है कि लद्दाख में भारतीय सेना कुछ अतिरिक्त बटालियन को सीमा पर भेज रही है. लेह सेना की दूसरी यूनिट में करीब 10-12 हजार सैनिक हैं. मामले की गंभीरता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि दो दिन पहले सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे हालात का जायजा लेने के लिए लद्दाख गए थे. उनके साथ बॉर्डर पर उत्तरी कमांड के चीफ लेफ्टिनेंट जनरल वायके जोशी भी मौजूद थे. इसके अलावा इन दोनों के साथ हालात का जायाजा लेने के लिए लेह के 14 कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट हरिंदर सिंह भी थे.



    सैटेलाइट तस्वीरों में दावा
    इस बीच गलवान घाटी की कुछ सैटेलाइट इमेज सामने आई हैं. इस तस्वीर को ऑस्ट्रेलियन स्ट्रेटेजिक पॉलिसी इंस्टीट्यूट से जुड़े एक एक्सपर्ट ने शेयर किया है. उन्होंने इसके जरिए दावा किया है कि LAC के पास दोनों तरफ ढेर सारे टेंट दिख रहे हैं. दावा किया जा रहा है कि पिछले दो हफ्ते में चीन ने करीब सौ टेंट बनाए हैं. इसके अलावा दोनों तरफ फौज की गाड़िया भी है. हालांकि भारत की तरफ से इन तस्वीरों की पुष्टि नहीं की गई है.



    1962 जैसा माहौल
    दावा किया जा रहा है कि गलवान घाटी में 1962 की तरह माहौल दिख रहा है, जब भारत और चीन के बीच युद्ध हुआ था. चीन के पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के 1200 जवान सीमा पर तैनात दिख रहे हैं. यहां कई बंकर भी दिख रहे हैं. भारतीय सेना इनसे 500 मीटर की दूरी पर खड़ी है. सैन्य सूत्रों ने कहा कि पैंगोंग सो झील और गलवान घाटी में भारतीय सेना चीनी सेना के मुकाबले में कहीं ज्यादा बेहतर स्थिति में है.

    गतिरोध खत्म करने के लिए हो रही है बातचीत
    भारत और चीन के सैनिकों के बीच लद्दाख के पैंगोंग त्सो झील और गलवान घाटी में तनाव घटाने के लिये इस हफ्ते कम से कम पांच दौर की वार्ता नाकाम रही. दरअसल, दोनों पक्षों ने विवादित सीमावर्ती इलाकों में अपना-अपना आक्रामक रुख जारी रखा है. भारत ने बृहस्पतिवार को कहा था कि चीनी सेना भारतीय सैनिकों की सामान्य गश्त में बाधा उत्पन्न कर रही है और भारत ने सीमा प्रबंधन को लेकर हमेशा दायित्वपूर्ण रवैया अपनाया है.


    ये भी पढ़ें:

    10 दिन में 2600 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाएगा रेलवे, 150 गाड़ि‍यां आएंगी बिहार

    Airtel का सस्ता प्लान!सिर्फ इतने के रिचार्ज परundefined

    Tags: India china, Ladakh

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर