लाइव टीवी

गोवा के पश्चिमी घाट पर आतंकी हमले की आशंका, प्रशासन ने उठाया ये कदम

भाषा
Updated: February 12, 2020, 6:21 PM IST
गोवा के पश्चिमी घाट पर आतंकी हमले की आशंका, प्रशासन ने उठाया ये कदम
पिछले काफी समय से देश में समुद्री सीमा के जरिए देश में आतंकियों के घुसने की आशंका जताई जा रही है. प्रतीकात्मक फोटो

गोवा (Goa) के पश्चिमी घाट (Western Ghat) पर आतंकी हमले (Terrorist Attack) की आशंका की खुफिया सूचना मिलने के बाद उत्तरी गोवा जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है. धारा 144, 11 फरवरी से 10 अप्रैल तक 60 दिनों के लिए लागू रहेगी.

  • Share this:
पणजी. गोवा (Goa) के पश्चिमी घाट (Western Ghat) पर आतंकी हमले (Terrorist Attack) की आशंका की खुफिया सूचना मिलने के बाद उत्तरी गोवा जिले में धारा 144 लागू कर दी गई है. उत्तरी गोवा की जिलाधिकारी आर. मेनका ने सोमवार को जारी एक अधिसूचना में कहा कि दंड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की धारा 144 लागू करने का आदेश 11 फरवरी से 10 अप्रैल तक 60 दिनों तक रहेगा. अधिसूचना में कहा गया है कि देश में मौजूदा हालात, भारत के पश्चिमी तट पर आतंकवादी खतरे की आशंका के संबंध में खुफिया सूचनाओं और गोवा या कहीं और असामाजिक तत्वों के अपराध करने की आशंका के मद्देनजर धारा 144 लागू की गई है.

मेनका ने कहा, ‘मानव जीवन पर खतरे और किसी तरह की आतंकी गतिविधियों को रोकने के लिए त्वरित कदम उठाना पूरी तरह अनिवार्य है. इन आतंकवादी गतिविधियों से राज्य की सुरक्षा पर असर पड़ सकता है और लोक व्यवस्था तथा शांति में बाधा उत्पन्न हो सकती है.’ जिलाधिकारी ने आदेश दिया है कि मकान, इमारत, होटल, लॉज, निजी गेस्ट हाउस तथा पेइंग गेस्ट के मालिक अपने परिसर को किराए पर देने से पहले सभी व्यक्तियों का उचित सत्यापन कराएं.

संघ के नेताओं पर आतंकी खतरा, आईबी ने जारी किया था अलर्ट
बता दें कि हाल ही में संघ नेताओं पर आतंकी हमले की आशंका जताई गई थी. आईबी ने इस बारे में अलर्ट भी जारी किया था. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) के पदाधिकारियों पर आतंकी हमले का खतरा मंडरा रहा है. खुफिया जानकारी के मुताबिक कई अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन संघ के बड़े नेताओं और संघ (RSS) के कार्यालयों को निशाना बना सकते हैं. वैश्विक आतंकवादी संगठन हमले को अंजाम देने के लिए IED या वाहन-जनित तात्कालिक IED का उपयोग कर सकते हैं. आईबी ने कहा है कि आतंकी आरएसएस कार्यालयों, उसके नेताओं और पुलिस स्टेशनों को निशाना बनाने की साजिश रच रहे हैं.

यह भी पढ़ें :-

इस बार भी दिल्ली के डिप्टी CM बनेंगे मनीष सिसोदिया? केजरीवाल ने दिया ये जवाब
अब इन तीन सरकारी कंपनियों का होगा विलय! जानिए क्या होगा कर्मचारियों का

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 5:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर