Home /News /nation /

टेरर फंडिंग केस: रिश्‍वत लेने के मामले में NIA के 3 अधिकारी सस्‍पेंड

टेरर फंडिंग केस: रिश्‍वत लेने के मामले में NIA के 3 अधिकारी सस्‍पेंड

इससे पहले ये मामला सामने आने के बाद मंत्रालय ने तीनों अधिकारियों का तबादला कर दिया गया था.

इससे पहले ये मामला सामने आने के बाद मंत्रालय ने तीनों अधिकारियों का तबादला कर दिया गया था.

इससे पहले ये मामला सामने आने के बाद गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने तीनों एनआईए (NIA) के अधिकारियों का तबादला कर दिया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
    नई दिल्‍ली. गृह मंत्रालय (Home Ministry) ने टेरर फंडिंग (terror funding case) में रिश्‍वत लेने के मामले में एनआईए (NIA) के तीन अधिकारियों को सस्‍पेंड कर दिया है. इससे पहले ये मामला सामने आने के बाद मंत्रालय ने तीनों अधिकारियों का तबादला कर दिया गया था. सूत्रों के अनुसार, मंत्रालय ने एसपी विशाल गर्ग, निशांत सिंह और मिथिलेश कुमार पर कार्रवाई की है.

    मामला सामने आने के बाद मंत्रालय ने डीआईजी स्‍तर के अधिकारी ने इसकी जांच कराई. जांच में एनआईए के तीन अधिकारियों को टेरर फंडिंग में रिश्‍वत लेने में संलिप्‍त पाया गया. सूत्रों के अनुसार, मंत्रालय ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सघन जांच का आदेश दिया है.

    टेरर फंडिंग में रिश्‍वत मांगने वालों में एनआईए के एक एसपी का नाम भी है. जबकि इनमें से एक अधिकारी समझौता ब्‍लास्‍ट केस की जांच कमेटी में भी शामिल रहा है. जब ये मामला सामने आया था, उस वक्‍त एनआईए के प्रवक्‍ता ने कहा था कि डीआईजी लेबल के अधिकारियों से मामले की जांच कराई जा रही है और तीनों अधिकारियों का तबादला कर दिया गया है. अब उन अधिकारियों पर बड़ी कार्रवाई की गई है.

    टेरर फंडिंग के पाकिस्तान से जुड़े तार! ISI को देते थे खुफिया जानकारी
    अभी कुछ दिन पहले ही मध्य प्रदेश में एक टेरर फंडिंग रैकेट का खुलासा हुआ है. भोपाल STF की टीम ने शातिर आरोपी बलराम सहित सतना में पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जो यहीं से कई राज्यों में रैकेट ऑपरेट कर रहे थे. पकड़े गए लोगों के पास से 17 पाकिस्तानी मोबाइल फोन के नंबर मिले हैं. इस गिरोह का सरगना बलराम सिंह है जो वर्ष 2017 में जम्मू-कश्मीर में गिरफ्तार किए गए आतंकवादियों की निशानदेही पर पहले भी गिरफ्तार किया गया था. बलराम समानांतर टेलीफोन एक्सचेंज चला रहा था, उसी से सारे टेलीफोन कॉल्स किए जा रहे थे.

    STF की टीम अब पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के इशारे पर काम कर रहे इन आरोपियों से आतंकियों को फंडिंग करने के मामले में विस्तार से पूछताछ कर रही है. जांच में भोपाल ATS के साथ सतना पुलिस भी शामिल है.

    Tags: Home ministry, NIA, Police, Terrorism

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर