पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI की मदद से भारत में नारकोटिक्स की तस्करी करने की कोशिश में आतंकी संगठन

नारकोटिक्स की तस्करी करने की फिराक में हैं आतंकी संगठन

नारकोटिक्स की तस्करी करने की फिराक में हैं आतंकी संगठन

आतंकी तंजीमें ज्यादा पैसे का लालच देकर नारकोटिक्स की तस्करी के लिए ज्यादा से ज्यादा कूरियर की भर्ती की कोशिश में है.

  • Share this:

कश्मीर. पाकिस्तान  (Pakistan) की खुफिया एजेंसी ISI जम्मू में आतंकी तंजीमों से कहा है कि वह नारकोटिक्स की तस्करी करे. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ISI ने आतंकी तंजीमों को नारकोटिक्स की तस्करी के लिए ज्यादा से ज्यादा कूरियर भर्ती करने का फरमान जारी किया है. मिली जानकारी के अनुसार आतंकी तंजीमें ज्यादा पैसे का लालच देकर नारकोटिक्स की तस्करी के लिए ज्यादा से ज्यादा कूरियर की भर्ती की कोशिश में है.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ISI की मदद से आतंकी तंज़ीम पुंछ और राजौरी में  भर्ती अभियान चला रहे हैं. इसके साथ ही मेंढर इलाके में बड़े पैमाने पर हो रही सीमा पार से तस्करी हो रही है.

डेहरी डब्बी गांव नारकोटिक्स स्मगलिंग का हब

खुफिया एजेंसियों को पता चला है कि पीओके का डेहरी डब्बी गांव नारकोटिक्स स्मगलिंग का हब है. यहां से ही जम्मू के  पुंछ, राजौरी इलाकों में ड्रग्स तस्करी के काम को कोआर्डिनेट किया जाता है/ ये राजौरी के हमीरपुर इलाके के अपोजिट सरहद पार का गांव है.


सूत्रों के अनुसार खुफिया एजेंसियों को इस बात की भी ख़बर मिली है कि राजौरी इलाके के गुरदन और ककोरा इलाके में आतंकियों का एक दस्ता जिसका कोड नाम 'कोइन' है. वो सक्रिय है और वो स्थानीय लोगों की भर्ती के साथ साथ सुरक्षा बलों पर हमले की फिराक में भी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज