अफगानिस्तान में शांति के लिए डूरंड लाइन पर आतंकी पनाहगाहों को खत्म करना होगा: भारत

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने अफगानिस्तान शांति प्रक्रिया पर भारत का पक्ष रखा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)
संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने अफगानिस्तान शांति प्रक्रिया पर भारत का पक्ष रखा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति (TS Tirumurti) ने कहा-अफगानिस्तान (Afghanistan) में शांति रहने के लिए जरूरी है कि आतंकियों के लिए सबसे सुरक्षित समझी जाने वाली डुरंड लाइन पर आतंकी पनाहगाहों को खत्म किया जाए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2020, 6:40 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत ने अफगानिस्तान शांति वार्ता के संबंध में पाकिस्तान (Pakistan) पर निशाना साधते हुए संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में कहा है कि शांति वार्ता (Peace Talk) और हिंसा (Violence) एक साथ नहीं चल सकते. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति (TS Tirumurti) ने कहा-अफगानिस्तान (Afghanistan) में शांति रहने के लिए जरूरी है कि आतंकियों के लिए सबसे सुरक्षित समझी जाने वाली डुरंड लाइन पर आतंकी पनाहगाहों को खत्म किया जाए. गौरतलब है कि तकरीबन 2600 किलोमीटर लंबी डूरंड रेखा अफगानिस्तान और पाकिस्तान को बांटती है.

बच्चों, महिलाओं समेत आम नागरिकों पर हो रहे आतंकी हमले
यूएन में जारी अफगानिस्तान में शांति प्रक्रिया (Afghanistan Peace Process) को लेकर चल रही अरिया फॉर्मूला बैठक में तिरुमूर्ति ने कहा- आज जब हम बैठक कर रहे हैं ठीक उसी वक्त अफगानिस्तान के कई इलाकों में जंग जारी है. रिपोर्ट्स आ रही हैं जिनमें बच्चों, महिलाओं समेत आम नागरिकों पर आतंकी हमले की खबरें हैं.





शांति प्रक्रिया और हिंसा एक साथ नहीं चल सकते, सीजफायर की मांग
उन्होंने आगे कहा-हमारा यह मानना है कि शांति प्रक्रिया और हिंसा एक साथ नहीं चल सकते. हम तत्काल बड़े स्तर पर सीजफायर की मांग करते हैं. हमें डूरंड लाइन के आस-पास आतंक का सफाया करना होगा.

आतंकियों की यह सप्लाई चेन खत्म करनी होगी
उन्होंने कहा- अलकायदा/ISIS सैंक्शन कमेटी के तहत बनी एनालिटिकल सपोर्ट ऐंड सैंक्शन मॉनिटरिंग टीम की रिपोर्ट के मुताबिक डूरंड लाइन में विदेश लड़ाकों की मौजूदगी भी दर्ज की गई है. अफगानिस्तान में शांति के लिए आतंकियों की यह सप्लाई चेन खत्म करनी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज