ईद से पहले राइज़िंग कश्मीर के एडिटर शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्या, रो पड़ीं महबूबा

पुलिस का कहना है कि शाम को शुजात बुखारी लाल चौक में प्रेस एन्क्लेव स्थित अपने ऑफिस से कहीं इफ्तार पार्टी के लिए जा रहे थे. तभी उनपर अज्ञात हमलावरों ने फायरिंग की.

News18Hindi
Updated: June 14, 2018, 10:31 PM IST
ईद से पहले राइज़िंग कश्मीर के एडिटर शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्या, रो पड़ीं महबूबा
शुजात बुखारी (फाइल)
News18Hindi
Updated: June 14, 2018, 10:31 PM IST
जम्मू-कश्मीर में ईद से ठीक पहले जाने-माने जर्नलिस्ट शुजात बुखारी की गुरुवार को गोली मारकर हत्या कर दी गई. बाइक सवार अज्ञात हमलावरों ने बुखारी पर उस वक्त गोलियां चलाई, जब वह लाल चौक के पास प्रेस एन्क्लेव स्थित अपने ऑफिस से कार में सवार होकर इफ्तार पार्टी के लिए निकल रहे थे. हमले में उनकी सुरक्षा में तैनात जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक जवान भी मारा गया है. वहीं, बुखारी के ड्राइवर की हालत नाजुक बनी हुई है.

सूत्रों के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद ने कहा है कि बाइक सवार चार हमलावरों ने शाम करीब 7.15 बजे फायरिंग की. इसके बाद मौके से फरार हो गए.

बताया जा रहा है कि एक साल पहले ही शुजात बुखारी को पाकिस्तानी आतंकियों से जान की धमकी मिली थी. उसके बाद उन्हें एक्स कैटेगरी की सुरक्षा दी गई थी. प्रेस क्लब ऑफ इंडिया ने भी निर्भीक पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या पर शोक जताया है.

ये भी पढ़ें:  बुखारी को थी हत्या की आशंका! लिखा था- 'कश्मीर में पत्रकारिता के लिए जिंदा रहना पहली चुनौती'




पुलिस का कहना है कि शाम को शुजात बुखारी लाल चौक में प्रेस एन्क्लेव स्थित अपने ऑफिस से कहीं इफ्तार पार्टी के लिए जा रहे थे. तभी उनपर अज्ञात हमलावरों ने फायरिंग की. पुलिस के मुताबिक, बुखारी को साल 2000 में एक हमले के बाद सुरक्षा दी गई थी.





ये भी पढ़ें:  शुजात बुखारी: कश्‍मीर का वह पत्रकार जिसने झेले तीन हमले, दो बार हुआ किडनैप

जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर जर्नलिस्ट बुखारी की हत्या पर शोक जताया है. महबूबा ने ट्विटर पर लिखा- 'शुजात बुखारी के अचानक इस तरह चले जाने से दुखी हूं. ईद के पहले आतंकवाद ने फिर से सिर उठाया है. हम इस घटना की कड़ी निंदा करते हैं. मेरी संवेदनाएं बुखारी के परिवार के साथ है.'



वहीं, पूर्व मुख्‍यमंत्री उमर अब्‍दुला ने दुख व्‍यक्‍त किया है. उमर अब्‍दुला ने ट्वीटर पर लिखा,  'इस घटना से मैं पूरी तरह से शॉक्‍ड हूं.'



जर्नलिस्ट बुखारी की हत्या पर गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी संवेदना जाहिर की है. राजनाथ सिंह ने कहा- "शुजात बुखारी की हत्या एक कायरतापूर्ण हरकत है. ऐसा करके हमलावरों और नफरात फैलाने वालों ने कश्मीर की आवाज को दबाने की कोशिश की है. बुखारी एक साहसी और निर्भीक पत्रकार थे. उनकी असमायिक मौत से आहत हूं."

ये भी पढ़ें: वरिष्ठ पत्रकार शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्या, जानिए किसने क्‍या कहा

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी शुजात बुखारी की हत्या पर शोक जताया है. राहुल ने ट्वीट किया- 'राइज़िंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी की हत्या से दुखी हूं. वह एक बहादुर और निर्भीक पत्रकार थे, जो हमेशा जम्मू कश्मीर में शांति के लिए लड़ते रहे. भगवान उनकी आत्मा को शांति दे. मेरी संवेदनाएं बुखारी के परिवार के साथ है.'





इसके अलावा केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने भी ट्वीट किया है. राठौड़ ने लिखा- 'ये एक शर्मनाक घटना है. भारत में मीडिया स्वतंत्र है. देश में राज्य और केंद्र सरकार मीडिया की आजादी को लेकर प्रतिबद्ध है. ईश्वर शुजात बुखारी की आत्मा को शांति दे.'
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर