Assembly Banner 2021

श्रीनगर में बीजेपी नेता के निवास पर आतंकियों का हमला, घायल पुलिस जवान की हुई मौत

IGP कश्मीर विजय कुमार ने कहा, घटना में 4 आतंकी शामिल थे.  2 आतंकियों की पहचान हो चुकी है.

IGP कश्मीर विजय कुमार ने कहा, घटना में 4 आतंकी शामिल थे. 2 आतंकियों की पहचान हो चुकी है.

Jammu Kashmir Latest news : पुलिस अधिकारी ने बताया कि अंदर मौजूद अन्य गार्ड द्वारा जवाबी कार्रवाई किए जाने के डर से आतंकवादी भाजपा नेता के घर पर नहीं होने की सूचना मिलने पर भाग गए. हालांकि वे एसएलआर राइफल लूट ले गए.

  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) की ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर के बाहरी इलाके में स्थानीय भाजपा नेता पर गुरुवार की सुबह लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों ने हमले की कोशिश की जिसमें एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि चार में से एक आतंकवादी बुर्का पहनकर आया था और अरिगाम नौगाम स्थित भाजपा नेता अनवर अहमद से मिलने का अनुरोध किया था.

अधिकारी ने बताया कि बारामूला जिले के भाजपा महासचिव एवं कुपवाड़ा जिले के प्रभारी अहमद घटना के समय मकान में मौजूद नहीं थे. उन्होंने बताया, ‘‘जैसे ही संतरी ने दरवाजा खोला आतंकवादियों ने अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी जिससे संतरी की मौत हो गई. संतरी की पहचान रमीज रजा के तौर पर हुई है.’’रजा को एसएमएचएस अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

बारामूला के सोपोर में हुई घटना
अधिकारी ने बताया कि अंदर मौजूद अन्य गार्ड द्वारा जवाबी कार्रवाई किए जाने के डर से आतंकवादी भाजपा नेता के घर पर नहीं होने की सूचना मिलने पर भाग गए. हालांकि वे एसएलआर राइफल लूट ले गए. यह घटना उत्तरी कश्मीर स्थित बारामूला जिले के सोपोर में ब्लॉक विकास परिषद (बीडीसी) के सदस्य एवं उसके सुरक्षा गार्ड की आतंकवादियों द्वारा हत्या करने के तीन दिन बाद हुई है.
बीडीसी सदस्य रियाज अहमद भाजपा से जुड़े हुए थे और उनके सुरक्षा गार्ड शफाकत अहमद की मौके पर ही तब मौत हो गई थी जब आतंकवादियों ने सोपोर नगरपालिका परिषद परिसर में ही अंधाधुंध गोलियां चलाई, तब परिषद की बैठक चल रही थी.



हादसे में पार्षद शम्सुद्दीन पीर भी हुए घायल
इस हमले में एक अन्य पार्षद शम्सुद्दीन पीर घायल हुए थे जिनकी बाद में इलाज के दौरान मौत हो गई. कश्मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) विजय कुमार ने बताया कि लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े चार आतंकवादियों ने भाजपा नेता के आवास पर हमला किया है. कुमार ने बताया कि चार में से एक आतंकवादी बुर्का पहनकर आया था और भाजपा नेता अनवर अहमद के घर का मुख्य दरवाजा खुलवाने के लिए उसने गार्ड से महिला की आवाज में बात की.

पुलिस नियंत्रण कक्ष में शहीद पुलिस कर्मी रमीज रजा को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित कार्यक्रम से इतर आईजीपी ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘मुख्य दरवाजे पर एक संतरी था जबकि दो पुलिस कर्मी गार्ड रूम में थे. सीसीटीवी फुटेज से स्पष्ट है कि बुर्का पहनकर आए एक आतंकवादी ने मुख्य दरवाजा खटखटाया और महिला की आवाज में दरवाजा खोलने को कहा.’’

  ये भी पढ़ेंः- HIV पर मिलेगी जीत? भारतीय वैज्ञानिकों ने हासिल की बड़ी सफलता

दो आतंकियों की पुलिस ने की पहचान
कश्मीर के संभागीय आयुक्त के पांडुरंग पोले और पुलिस, केंद्रीय सशस्त्र अर्धसैनिक बल और नागरिक प्रशासन के अधिकारियों ने मृतक पुलिसकर्मी को पुलिस नियंत्रण कक्ष में श्रद्धांजलि अर्पित की. कुमार ने बताया कि चार आतंकवादियों में से दो की पहचान कर ली गई है और दोनों श्रीनगर शहर के रहने वाले हैं. उन्होंने कहा, ‘‘शुरुआत में हमें लगा कि बुर्का में महिला है लेकिन बाद में सीसीटीवी फुटेज का करीब से विश्लेषण करने से पता चला कि वह भी पुरुष है न कि महिला. चार आतंकवादियों में से दो की पहचान कर ली गई है और वे श्रीनगर शहर के रहने वाले हैं.’’

उन्होंने बताया, ‘‘ वे लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हैं. उनमें से एक शाहिद खुर्शीद डार है जो चनापुरा का रहने वाला है. दूसरे आतंकवादी का नाम उबैद शफी डार है. दोनों पिछले साल चार अन्य के साथ लश्कर में शामिल हुए थे.’’ आईजीपी ने कहा, ‘‘पुख्ता खुफिया सूचना मिलते ही हम उन्हें निष्क्रिय कर देंगे.’’

उमर अब्दुल्ला ने की इस हमले की निंदा
इस हमले की सभी पार्टियों ने निंदा की. नेशनल कांफ्रेंस उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने हमले की निंदा करते हुए कश्मीर घाटी के ‘सुरक्षा माहौल में गिरावट’ पर चिंता जताई. पार्टी ने एक बयान में कहा कि नेकां के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने शोकाकुल परिवार के साथ एकजुटता प्रदर्शित की है.
भाजपा ने आतंकवादी हमले की निन्दा की और कहा कि इस तरह की घटनाओं से जम्मू कश्मीर में लोकतंत्र कमजोर नहीं हो सकता. भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव एवं जम्मू कश्मीर प्रभारी तरुण चुग ने हमले को ‘‘अत्यंत निन्दनीय’’ करार दिया और कहा कि पुलिसकर्मी के हत्यारों के लिए कठोर दंड सुनिश्चित किया जाएगा.

ये भी पढ़ेंः- HIV पर मिलेगी जीत? भारतीय वैज्ञानिकों ने हासिल की बड़ी सफलता

उन्होंने पार्टी नेताओं पर हुए विभिन्न हमलों के संदर्भ में कहा, ‘‘बार-बार हो रहे ये आतंकी हमले क्षेत्र में लोकतंत्र को कमजोर नहीं कर सकते.’’ जम्मू कश्मीर भाजपा अध्यक्ष रवींद्र रैना ने भी हमले की निन्दा की और कहा कि इस तरह की घटनाओं से समूची मानवता शर्मसार महसूस कर रही है. उन्होंने कहा, ‘‘लोकतंत्र के सैनिक होने के नाते, सामाजिक और राजनीतिक कार्यकर्ता लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए अथक रूप से कार्य करते हैं, लेकिन आतंकवादी, उनके आका और उनके हमदर्द नहीं चाहते कि लोग संपन्न हों.’’

भाजपा महासचिव (संगठन) अशोक कौल ने कहा कि जिन लोगों ने पार्टी नेता के घर पर हमला किया और निर्दोष पुलिसकर्मी की हत्या की, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा. कौल ने मांग की कि भाजपा कार्यकर्ताओं को उचित सुरक्षा दी जानी चाहिए, जिससे कि राष्ट्रविरोधी तत्व उन पर आसानी से हमला न कर सकें. जम्मू-कश्मीर प्रदेश कांग्रेस कमेटी (जेकेपीसीसी) ने हत्या की कड़ी निंदा करते हुए ‘घाटी में खराब होते हालात’ पर चिंता जताई. जेकेपीसीसी ने बयान जारी कर घटना को ‘कायराना और शर्मनाक’ करार दिया.

पार्टी ने कश्मीर में लगातार हो रहे हमलों पर चिंता जताते हुए सरकार से मांग की कि वह और प्रभावी कदम उठाए ताकि इन हमलों को रोका जा सके एवं सुनिश्चित किया जा सके कि और जान की हानि नहीं हो. जेकेपीसीसी ने मृतक पुलिस कर्मी के परिवार के प्रति गहरी संवेदना प्रकट की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज