लाइव टीवी

जम्‍मू-कश्‍मीर में शांति से खिसियाए आतंकियों ने अब कुलगाम में जलाए दो स्‍कूल

News18Hindi
Updated: November 6, 2019, 11:02 PM IST
जम्‍मू-कश्‍मीर में शांति से खिसियाए आतंकियों ने अब कुलगाम में जलाए दो स्‍कूल
घाटी में बौखलाए आतंकी अब निर्दोष लोगों को निशाना बना रहे हैं. प्रतीकात्‍मक फोटो

जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu and Kashmir) के कुलगाम में आतंकियों ने 2 स्‍कूलों की बिल्‍डिंग में आग लगा दी. अनुच्‍छेद 370 (Article 370) के प्रावधानों में बदलाव के बाद सरकार ने जम्‍मू कश्‍मीर के विशेष दर्जे को खत्‍म कर दिया है. इसके बाद लगाए गए प्रतिबंध में अब प्रशासन ढील दे रहा है. लेकिन आतंकी अब शांति के माहौल में खलल डालने की नापाक कोशिशों में लगे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2019, 11:02 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्‍मू कश्‍मीर (Jammu and Kashmir) में अनुच्‍छेद 370 (Article 370) में बदलाव हुए तीन महीन से ज्‍यादा का वक्‍त बीत चुका है. तमाम प्रतिबंधों के बाद अब वहां हालात सामान्‍य होने लगे हैं. लेकिन आतंकियों (Terrorists) के वहां सामान्‍य होते हालात हजम नहीं हो रहे हैं. इसलिए अब वह आम लोगों को अपना निशाना बना रहे हैं. उन्‍होंने अब मासूम बच्‍चों के स्‍कूलों को निशाना बनाया है. आतंकियों ने कुलगाम (Kulgam) में दो स्‍कूलों में आग लगा दी है. फायर ब्रिगेड ने आग पर काबू पाया. सुरक्षाबलों ने आतंकियों को पकड़ने के लिए सर्च ऑपरेशन चलाया.

सुरक्षाबलों के अनुसार, बुधवार शाम को कुलगाम के दो स्‍कूलों में अज्ञात लोगों ने आग लगा दी. स्‍थानीय लोगों ने इसकी जानकारी दी. इसके बाद फायर ब्रिगेड ने आकर आग पर काबू पाया. घाटी में आतंकियों ने पहले भी स्‍कूलों को निशाना बनाया है. खासकर 2016 में बुरहान वानी (Burhan Wani) के एनकाउंटर के बाद आतंकियों ने घाटी में कई स्‍कूलों को अपना निशाना बनाया था. 5 अगस्‍त के बाद घाटी में लगाए गए बैन के कारण भी स्‍कूलों की पढ़ाई बाधित हुई है.

बता दें कि 2016 में आतंकियों ने घाटी में 35 से अधिक स्कूल जला दिए थे. अब कश्‍मीर में बदले हालात में आतंकी 2016 की तरह ही कश्मीर में मां बाप के अंदर अंदर दहशत पैदा करने की साजिश रच रहा है. आतंकियों ने 29 अक्टूबर को एक स्कूली इमारत के पास CRPF की टीम पर हमला भी किया था. जिस वक्त हमला हुआ उस वक्त स्कूल में बोर्ड की परीक्षाएं चल रही थीं. हमले के दौरान ही स्कूल में कई स्टूडेंट्स फंस गए थे, जिन्हें बाद में सेना की टीम ने सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया था.

आतंकी बनाना चाहते हैं डर का माहौल

पुलिस का कहना है कि जम्‍मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में आतंकवादी (Terrorists) अघोषित बंद के खिलाफ किसी भी आवाज को दबाने के लिए डर का माहौल पैदा कर रहे हैं. पुलिस ने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 (Article 370) के प्रावधान हटने  के बाद शुरू हुए बंद के चौथे महीने में प्रवेश करने पर बुधवार को यह बात कही. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘उन इलाकों में बंद लागू करने के लिए लगातार कोशिशें की जा रही हैं, जहां दुकानें खुली हैं या पटरियों पर विक्रेता सामान बेच रहे हैं. शांति विरोधी तत्व लोगों को घरों के भीतर रखने की कोशिश कर रहे हैं.’अधिकारी ने बताया कि शहर के व्यस्त गोनी खान बाजार और काका सराय इलाकों में दो ग्रेनेड हमले (Grenada attack) इस बात का संकेत हैं कि बंद को जारी रखने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें
कश्‍मीर में 11 नवंबर से फिर शुरू होगी रेल सेवा, पिछले तीन महीने से थी बंद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 10:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...