अब इस समुदाय की लड़कियां नहीं रख सकेंगी मोबाइल, पकड़ी गई तो देना होगा डेढ़ लाख का जुर्माना

गुजरात के बनासकांठा में ठाकोर समुदाय के सदस्यों ने अविवाहित लड़कियों के मोबाइल रखने पर प्रतिबंध लगा दिया है. समुदाय का मानना है कि अविवाहित लड़कियों का मोबाइल रखना सही नहीं है.

News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 5:34 PM IST
News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 5:34 PM IST
21वीं शताब्दी में जहां पुरुष और महिलाओं की समानता की बात की जाती है, वहीं गुजरात के बनासकांठा में हैरान करने वाला मामला सामने आया है. यहां ठाकोर समुदाय के सदस्यों ने अविवाहित लड़कियों के मोबाइल फोन रखने पर प्रतिबंध लगा दिया है. समुदाय का मानना है कि अविवाहित लड़कियों का मोबाइल रखना सही नहीं है. इसके अलावा अंतरजातीय विवाह करने वाले युवाओं के माता-पिता पर जुर्माना लागने की भी बात कही है.

समुदाय के एक नेता ने मंगलवार को बताया कि जिले के दांतीवाड़ा तालुक में 12 गांवों में ठाकुर समुदाय के बुजुर्गों ने 14 जुलाई को पंचायत में यह फरमान जारी किया. गांव के लोग पंचायत के इस फरमान को अपना सविंधान मानते हैं. समुदाय के नियमों के अनुसार, अविवाहित लड़कियों को फोन नहीं दिया जाएगा. अगर किसी लड़की के पास मोबाइल पाया गया तो उसे अपराध माना जाएगा. सजा के तौर पर लड़की के पिता को डेढ़ लाख रुपये का जुर्माना देना होगा.

अंतरजातीय विवाह माना जाएगा अपराध

इसके अलावा अगर लड़की ने घर वालों के सहमति के बिना अंतरजातीय विवाह करती है तो उसे पंचायत ने अपराध माना है. जिला पंचायत के सदस्यों ने बताया कि समाजहित में भी कई और फैसले लिए गए हैं. शादी में फिजूलखर्ची रोकने के लिए डीजे और आतिशबाजी पर रोक लगाने का फैसला भी किया गया है. उन्होंने बताया कि मोबाइल रखने और जुर्माना लगाने के मुद्दे पर अभी सिर्फ चर्चा हुई है, लेकिन इसे अभी लागू नहीं किया गया है.

'लड़कों के लिए भी बने ये नियम'

समुदाय के इन नियमों पर कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर ने कहा कि शादी में खर्चों को कम करने वाले नियम अच्छे हैं. लेकिन अविवाहित लड़कियों को मोबाइल रखने पर उन्होंने कहा कि इस पर विचार करना चाहिए. अगर यही नियम लड़कों के लिए भी बनाएंगे तो अच्छा होगा. अल्पेश ने कहा कि मैं लव मैरिज के लिए बनाए गए नियम पर कुछ नहीं कह सकता, क्योंकि मेरी भी लव मैरिज ही हुई थी.

ये भी पढ़ें- मॉब लिंचिंग की घटना में अब ऐसे मिलेगी तुरंत मदद, जारी हुआ यह नम्बर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2019, 11:02 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...