कोरोना ने बिगाड़ी दिमागी हालत, कारोबार गंवाया, अब लगा 5 करोड़ रुपये का जैकपॉट

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

Thane Man Won Lottery: राजकांत पाटिल (Rajakant Patil) कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे. उन्होंने करीब डेढ़ महीने पहले लॉटरी की कुछ टिकटें खरीदी थी. कहा जा रहा है कि इन टिकटों में 10 टिकट 100 रुपए की प्रति दर से खरीदे गए थे, 2 टिकट ने उन्होंने 500-500 रुपए चुकाए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 8:38 PM IST
  • Share this:
ठाणे. कोरोना वायरस (Coronavirus) का दौर किसी के लिए भी आसान नहीं था. स्वास्थ्य से लेकर आर्थिक मोर्चे तक इस महामारी ने इंसान की हर क्षेत्र में कमर तोड़ी है. हालांकि, हालात कुछ समय के लिए सामान्य जैसे हुए भी, लेकिन दूसरी लहर (Second Wave) की दस्तक ने फिर स्थिति उलट कर रख दी. अब जब देश में संक्रमण के बढ़ते मामलों ने मुश्किलें बढ़ा रखी हैं, तो एक मन को सुकून देने वाली एक खबर भी दवा का काम कर रही है. ऐसा ही महाराष्ट्र के राजकांत पाटिल की साथ हुआ है. सबकुछ गंवाने के बाद किस्मत ने एक बार फिर करोड़पति बनने का मौका दिया है.

राजकांत पाटिल कोरोना वायरस की चपेट में आ गए थे. उन्होंने करीब डेढ़ महीने पहले लॉटरी की कुछ टिकटें खरीदी थी. कहा जा रहा है कि इन टिकटों में 10 टिकट 100 रुपए की प्रति दर से खरीदे गए थे, 2 टिकट ने उन्होंने 500-500 रुपए चुकाए थे. इस लिहाज से सभी टिकटों की कीमत 2000 रुपये हो गई थी. उन्होंने इन 12 टिकटों में अपना भविष्य देखने की कोशिश की थी. पाटिल महाराष्ट्र के ठाणे जिले के दिवा में अपनी मां, पत्नी और दो बेटों के साथ रहते हैं.

Youtube Video


यह भी पढ़ें: अगर आपके पास है ऐसा 1 रुपये का सिक्‍का तो कमा सकते हैं 10 करोड़ रुपये, जानें कहां करनी होगी नीलामी
जब पाटिल कोरोना वायरस को मात देकर घर लौटे, तो उनके पास एक कॉल आय़ा. इस एक कॉल ने कल तक महामारी से उबरने के तरीके खोज रहे पाटिल को करोड़पति बना दिया. उन्हें खबर दी गई कि एक टिकट पर 5 करोड़ रुपए की लॉटरी लगी है. हालांकि, इस कॉल को उन्होंने केवल मजाक ही माना था. मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि उनकी मानसिक हालत भी काफी खराब हो गई थी.



अब पाटिल कहते हैं कि परिवार के पुण्य कर्मों के चलते ही यह इनाम उन्हें मिला है. वे इसका इस्तेमाल अपना कारोबार बढ़ाने में करेंगे. वे बुरे दौर में भी उम्मीद रखने की बात कह रहे हैं. ले कहते हैं कि इंसान को सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज