होम /न्यूज /राष्ट्र /थाणे: सेंट्रल जेल में 25 की क्षमता, 8 बच्‍चों के साथ रह रहीं 87 महिला कैदी: NCW

थाणे: सेंट्रल जेल में 25 की क्षमता, 8 बच्‍चों के साथ रह रहीं 87 महिला कैदी: NCW

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

रावत ने आगे बताया कि जेल में 1105 कैदियों की क्षमता है लेकिन 3400 से ज्‍यादा कैदी हैं. थाणे जेल की महिला विंग में 25 क ...अधिक पढ़ें

    राष्‍ट्रीय महिला आयोग की दो सदस्‍यीय टीम ने थाणे सेंट्रल जेल का निरीक्षण किया. एनसीडब्‍ल्‍यू के सदस्‍य आलोक रावत के नेतृत्‍व में बनी टीम ने जेल में भीड़भाड़, कानूनी सहायता की उपलब्धता, पुनर्वास योजना, स्किल डेवलपमेंट और ट्रेनिंग, कानूनी जागरुकता और महिला कैदियों के लिए कानूनी मदद, इन कैदी महिलाओं के बच्‍चों के लिए सुविधाओं आदि का निरीक्षण किया.

    इस टीम में महाराष्‍ट्र राज्‍य महिला आयोग और जिला कानूनी सेवा अथॉरिटी (थाणे) से भी सदस्‍य शामिल थे. इस टीम ने राष्‍ट्रीय महिला आयोग के द्वारा तैयार किए गए परफॉर्मा और 7 जुलाई को आई राष्‍ट्रीय मानवाधिकार आयाेग की रिपोर्ट को आधार बनाकर जेल का दौरा किया.

    इस दौरान आलोक रावत ने बताया कि एनएचआरसी की टीम ने सेंट्रल जेल में भीड़भाड़, सफाई, शौचालय और महिला कैदियों की जमानत याचिकाओं के लंबे समय तक लटके रहने का मामला उठाया था. ऐसे में टीम ने वहां जाकर निरीक्षण कर ये देखा कि जो भी मुद्दे थे वे सब वहां वैसे ही हैं. हालांकि जेल अधिकारियों ने अब कैदियों को भायखला जेल में भेजना शुरू कर दिया है.

    रावत ने आगे बताया कि जेल में 1105 कैदियों की क्षमता है लेकिन 3400 से ज्‍यादा कैदी हैं. थाणे जेल की महिला विंग में  25 कैदियों की क्षमता है लेकिन 87 महिलाएं अपने 8 बच्‍चों के साथ रहने को मजबूर हैं. हालांकि भीड़भाड़ के कारण एक नई महिला जेल के निर्माण का प्रस्‍ताव भी स्‍वीकृत है.

    उन्‍होंने बताया कि एनसीडब्‍ल्‍यू टीम की ओर से सीएसआर फंड से सोलर कूलर लगवाने, सेनिटरी नेपकिन के डिस्‍पोजल के लिए ईको-फ्रेंडली इंतजाम करना, स्‍टाफ के लिए नियमित रूप से फायर अलार्म की ट्रेनिंग कराना आदि के सुझाव दिए गए.

    Tags: Thane

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें