होम /न्यूज /राष्ट्र /

दिव्यांगजनों को इस काम के लिए 25 हज़ार रुपये की मदद दे रही है केन्द्र सरकार

दिव्यांगजनों को इस काम के लिए 25 हज़ार रुपये की मदद दे रही है केन्द्र सरकार

पीएम मोदी ने आज राज्‍यसभा में राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब दे सकते हैं. (फाइल फोटो)

पीएम मोदी ने आज राज्‍यसभा में राष्‍ट्रपति के अभिभाषण पर जवाब दे सकते हैं. (फाइल फोटो)

केन्द्र सरकार (Central Government) दो तरह की गाड़ियां खरीदने के लिए दिव्यांगजनों को सब्सिडी देने की यह योजना लाई है.

    नई दिल्ली. ट्राईसाइकिल (Tricycle) और व्हीलचेयर (Wheelchair) का इस्तेमाल करने के लिए दिव्यांगजनों को खासी मशक्कत करनी पड़ती है. ट्राईसाइकिल-व्हीलचेयर को चलाने के लिए बहुत ज़्यादा ताकत लगानी पड़ती है. हालांकि बाज़ार में बैटरी से चलने वाली मोटरयुक्त ट्राईसाइकिल और मोटरयुक्त व्हीलचेयर भी मौजूद हैं. लेकिन इनकी बहुत ज़्यादा है. जिसके चलते दिव्यांगजन (Divyang) इन्हें खरीद नहीं पाते हैं. लेकिन अब केन्द्र सरकार (Central Government) इन्हें खरीदने के लिए दिव्यांगजनों को सब्सिडी देगी.

    सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्यमंत्री कृष्णपाल सिंह गुर्जर का कहना है कि ऐसे गंभीर रूप से दिव्यांग, काड्रिप्लेजिक, मांसपेशीय दुष्पोषण (मस्कुलर डिस्ट्रॉफी), स्ट्रोक, सेरेब्रल पाल्सी, हेमिपेलिजिया और इसी तरह के हालात वाले किसी भी ऐसे दिव्यांगजन जिनके तीन-चार अंग या शरीर का आधा हिस्सा कमजोर हो गया है को केन्द्र सरकार की ओर से 25 हज़ार रुपये दिए जाएंगे. लेकिन यह मदद सिर्फ बैटरी से चलने वाली मोटरयुक्त ट्राईसाइकिल और मोटरयुक्त व्हीलचेयर खरीदने के लिए दी जाएगी.

    हालांकि बैटरी से चलने वाली मोटरयुक्त ट्राईसाइकिल की बाज़ार में 37 हज़ार रुपये और मोटरयुक्त व्हीलचेयर 65 हज़ार रुपये की है. लेकिन इसकी खरीद पर जहां केन्द्र सरकार दे रही है तो वहीं बाकी की रकम राज्य सरकार एडिप योजना के तहत दिव्यांगजनों को देगी.

    NGT ने दिया आदेश, ऐसे राज्यों में नहीं बिक सकते वाटर प्यूरीफायर (RO)

    ऐसे पात्र लोग ही उठा सकेंगे योजना का फायदा

    राज्यमंत्री कृष्णपाल सिंह गुर्जर के मुताबिक इस योजना के तहत 100 और 50 फीसद सब्सिडी का फायदा भी उठाया जा सकता है. लेकिन उसके लिए भी पात्र होना जरूरी है.

    1 भारत का नागरिक हो.

    2 80 फीसद दिव्यांगता का प्रमाण पत्र हो.

    3 मासिक आय 15 हज़ार रुपये से ज़्यादा न हो.

    4 50 फीसद सब्सिडी पाने के लिए मासिक आय 15 से 20 रुपये से ज़्यादा न हो.

    5 16 साल या उससे ज़्यादा उम्र वालों को ही लाभ मिलेगा.

     दिव्यांगों को 35 किलो अनाज की घाेषणा    

    अंत्योदय अन्न योजना नियमों में बदलाव के बाद दिव्यांगों को 35 किलो अनाज प्रति परिवार प्रति माह देने का आदेश हुआ है. अंत्योदय अन्न योजना राशनकार्ड और प्राथमिकता वाले परिवार राशनकार्ड के अंतर्गत कौन लाभार्थी होंगे इसकी जवाबदेही राज्य सरकार पर है. अन्त्योदय अन्न योजना मुख्य रूप से गरीबों के लिए आरक्षित है, शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के गरीब परिवार को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएंगा. अन्त्योदय परिवार के लिए चुने गए आवेदक के परिवार को अन्त्योदय राशन कार्ड मान्यता प्राप्त करने के लिए अद्वितीय कोटा कार्ड प्रदान किया जाएंगा

    Tags: Central government, Cycle, Disabilities, E-Vehicle, Pm narendra modi

    अगली ख़बर