पाकिस्तान से भारत भेजी जा रही नेश की खेप, बीएसएफ ने की बड़ी कार्रवाई

अरनिया सेक्टर में बीएसएफ ने नशे की एक बड़ी खेप बरामद की है.
अरनिया सेक्टर में बीएसएफ ने नशे की एक बड़ी खेप बरामद की है.

बीएसएफ (BSF) को पाकिस्तान (Pakistan) की सीमा पर लगे तार के पास से 58 पैकेट नशीला पदार्थ, दो पिस्टल और चार मैगजीन बरामद हुई है. हालांकि सभी तस्कर वहां से भागने में कामयाब हो गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 12:51 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के अरनिया सेक्टर में बीएसएफ (BSF) ने नशे की एक बड़ी खेप बरामद की है. पाकिस्तान (Pakistan) से घुसपैठ के जरिए इन नशे के सामान को भारत (India) में भेजने की तैयारी थी. खबर है कि जैसे ही ये लोग सीमा पार करने की कोशिश कर रहे थे तभी बीएसएफ ने उन्हें रोकने की कोशिश की. पकड़े जाने के डर से सभी घुसपैठिए सारा सामान वहीं छोड़कर वहां से भाग गए. बीएसएफ को सीमा पर लगे तार के पास से 58 पैकेट नशीला पदार्थ, दो पिस्टल और चार मैगजीन बरामद हुई है. हालांकि सभी तस्कर वहां से भागने में कामयाब हो गए.

जानकारी के मुताबिक शनिवार रात जम्मू कश्मीर के अरनिया सेक्टर में पाकिस्तान की तरफ से कुछ लोग घुसपैठ करने की कोशिश कर रहे थे. बीएसएफ ने देखा कि कुछ लोग बॉर्डर के पास लगे तार के पास तक पहुंच गए है तो उन्हें वहीं रुक जाने को कहा. बीएसएफ को आता देख घुसपैठिए वहां से भाग गए और अपना सामान वहीं पर छोड़ दिया. मौके पर पहुंचे बीएसएफ के जवानों ने वहां से 58 पैकेट नशीला पदार्थ, दो पिस्टल और चार मैगजीन बरामद कीं.

इसे भी पढ़ें :- रक्षा मंत्रालय ने राज्यसभा में बताया! कैंटीन में केवल स्वदेशी सामान बेचने पर नहीं हुआ कोई निर्णय



भारत-पाकिस्तान सीमा पर पिछले 1 महीने में नशीले पदार्थों की तस्करी की यह चौथी बड़ी कोशिश है.इससे पहले 8 सितंबर को राजस्थान में भारत-पाकिस्तान सीमा पर दो नशे के तस्करों को जो कि पाकिस्तान से आ रहे थे उन्हें बीएसएफ ने मार गिराया था. इनके पास से भी नशीला पदार्थ बरामद किया गया था. उससे पहले पंजाब में भारत-पाकिस्तान सीमा पर नशे के तस्करों को मार गिराया गया था और नशीले पदार्थों की तस्करी की कोशिश को नाकाम किया गया था. कुछ दिनों पहले पंजाब में ही भारत-पाकिस्तान की अबोहर सीमा पर बीएसएफ ने तस्करों की कोशिश को नाकाम करते हुए नशीले पदार्थों का जखीरा बरामद किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज