Assembly Banner 2021

गृह मंत्री अमित शाह ने शेयर किया वीडियो, कहा - बहादुर सैनिक के ​पिता ने राहुल गांधी को साफ संदेश दिया

पूर्वी लद्दाख में दो दिन पहले चीनी सैनिकों के हमले में 20 जवान शहीद हो गए थे.

पूर्वी लद्दाख में दो दिन पहले चीनी सैनिकों के हमले में 20 जवान शहीद हो गए थे.

राहुल गांधी (Rahul Gandhi) पर पलटवार करते हुए गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि ऐसे समय में जब पूरा देश एकजुट है, राहुल गांधी को भी ओछी राजनीति से ऊपर उठना चाहिए.

  • Share this:
नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी (Galwan Valley) में भारत (India) और चीन (China) के सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प के बाद से कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) केंद्र सरकार पर हमलावर होते दिख रहे हैं. राहुल गांधी हर दिन केंद्र सरकार से सवाल कर रहे हैं कि आखिर चीन भारत की जमीन पर कैसे घुस आया. राहुल गांधी की ओर से पूछे गए सवालों का जवाब गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने गलवान घाटी में झड़प के दौरान घायल हुए एक सैनिक के पिता का वीडियो रीट्वीट करते हुए दिया है. शाह ने इस ​वीडियो को रिट्वीट करते हुए कहा कि एक बहादुर सैनिक के ​पिता ने राहुल गांधी को साफ संदेश दिया है.

राहुल गांधी पर पलटवार करते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि ऐसे समय में जब पूरा देश एकजुट है, राहुल गांधी को भी ओछी राजनीति से ऊपर उठना चाहिए. राहुल गांधी को इस समय राष्ट्रहित के साथ मजबूती के साथ खड़े होने की जरूरत है. बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह ने गलवान घाटी में झड़प के दौरान घायल हुए ​सैनिक के पिता का वीडियो री​ट्वीट किया है, जिसमें सैनिक के बुजुर्ग पिता कह रहे हैं कि भारतीय सेना एक मजबूत सेना है.
Youtube Video
घायल सैनिक के पिता ने कहा ​कि भारतीय सेना चीन क्या, किसी भी देश की सेना को हरा सकती है. मैं राहुल गांधी से कहूंगा कि वह इस पर राजनीति ना करें. मेरा बेटा सेना के लिए लड़ा है और भगवान ने चाहा तो ठीक होकर फिर लड़ेगा.




गौरतलब है कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान को लेकर शनिवार को आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री ने भारतीय क्षेत्र चीन को सौंप दिया है. उन्होंने ट्वीट किया, 'प्रधानमंत्री ने चीनी आक्रामकता के आगे भारतीय क्षेत्र को चीन को सौंप दिया है.' कांग्रेस नेता ने सवाल किया कि 'अगर यह भूमि चीन की थी तो हमारे सैनिक क्यों शहीद हुए? वे कहां शहीद हुए?'
इससे पहले पीएम मोदी ने भारत-चीन तनाव पर शुक्रवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में कहा कि न कोई हमारे क्षेत्र में घुसा और न ही किसी ने हमारी चौकी पर कब्जा किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज