माधुरी दीक्षित के राजनीति में उतरने की खबर से बीजेपी नेताओं की धड़कने बढ़ी

ब्राह्मण मतदाताओं की ठीक-ठाक संख्या होने की वजह से भी चल रहा है माधुरी दीक्षित का नाम

News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 5:54 PM IST
माधुरी दीक्षित के राजनीति में उतरने की खबर से बीजेपी नेताओं की धड़कने बढ़ी
ब्राह्मण मतदाताओं की ठीक-ठाक संख्या होने की वजह से भी चल रहा है माधुरी दीक्षित का नाम
News18Hindi
Updated: December 7, 2018, 5:54 PM IST
माधुरी दीक्षित नेने पुणे लोकसभा सीट से बीजेपी के लिए एक अच्छी उम्मीदवार हो सकती हैं. दिलचस्प है कि पार्टी अध्यक्ष अमित शाह इस साल जून में माधुरी के घर गए थे. उस वक्त कहा गया था कि ये  संपर्क अभियान के तहत किया गया सामान्य भेंट-मुलाकात थी.

ये भी देखें : VIDEO: 51 साल की माधुरी दीक्षित का ये डांस देखकर दबा लेंगे दांतों तले उंगलियां!

माधुरी के चुनाव लड़ने पर पूछे जाने पर पुणे से सांसद संजय काकडे ने इसे पूरी तरह नकार दिया. काकडे अगले चुनाव में खुद पार्टी की ओर से प्रत्याशी बनना चाहते हैं.माधुरी दीक्षित का नाम आगे करने की एक वजह ये भी है कि पुणे में ब्राह्मण मतदाता बड़ी संख्या में हैं.

काकडे का कहना है-“माधुरी सिर्फ ब्राह्मण होने के कारण उम्मीदवार नहीं हो सकती. पार्टी को उन्हें टिकट नहीं देना चाहिए. पुणे को एक ऐसा नेता चाहिए जो यहां की समस्याओं को हल कर सके.”काकडे के अलावा सांसद अनिल शिरोले और विधायक गिरिश बापट की निगाह भी इस सीट पर है.

राजनीतिक दल लंबे समय से सेलिब्रेटी को चुनाव में उतारते रहे हैं. हो सकता है कि जया प्रदा, जया बच्चन, रेखा और हेमामलिनी के बाद माधुरी दीक्षित भी राजनीति में दिखे. वैसे पुणे के पार्टी पदाधिकारी पहले से ही माधुरी दीक्षित को टिकट दिए जाने की संभावना से मना कर चुके हैं.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->