Coronavirus: बंद घर में कोरोना का खतरा ज्यादा, इन तीन उपायों से सुधारें हवा की क्वालिटी

जिन घरों में हवा के वेंटिलेशन सही नहीं है वहां पर कोरोना का खतरा ज्यादा है.
जिन घरों में हवा के वेंटिलेशन सही नहीं है वहां पर कोरोना का खतरा ज्यादा है.

वैज्ञानिकों का कहना है कि जब इसका पता चल चुका है कि मुंह से निकले छोटे ड्रॉपलेट्स और कण दूसरों को संक्रमित कर रहे हैं ऐसे में घर का खराब वेंटिलेशन (Air Ventilation) कोरोना वायरस (Coronavirus) को और भी ज्यादा बढ़ा सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2020, 11:04 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना (Coronavirus) के नए मामले हर दिन नए रिकॉर्ड बना रहे हैं. कोरोना के मरीजों (Corona Patient) की संख्या बढ़ने के बाद से गंभीर मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है, जबकि शुरुआती लक्षण मिलने पर मरीजों को अब घर में ही क्वारंटाइन (Quarantine) की सलाह दी जा रही है. ऐसे में अगर घर पर कोई कोरोना मरीज मौजूद है तो परिवार के अन्य सदस्यों में भी कोरोना का खतरा बढ़ गया है. कोरोना पर शोध कर रहे वैज्ञानिकों का कहना है कि घर पर रह रहे कोरोना मरीज अगर किसी से बात करते हैं, गाना गाते हैं या फिर तेज सांस लेते हैं तो भी परिवार के अन्य सदस्यों में कोरोना का खतरा बढ़ जाता है भले ही वह सोशल डिस्टेंसिंग का पालन क्यों न कर रहे हों.

अमेरिकी स्वास्थ्य एजेंसी सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन की नई गाइडलाइंस के मुताबिक कोरोना वायरस हवा में तैर रहे वायरस के छोटे कणों से भी फैल सकता है. इस तरह से वायरस फैलने की वजह खराब वेंटिलेशन है. यही कारण है कि कई वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि कोरोना से बचने के लिए घर से ज्यादा अच्छा बा​हर का वातावरण है. वैज्ञानिकों का कहना है कि जब इसका पता चल चुका है कि मुंह से निकले छोटे ड्रॉपलेट्स और कण दूसरों को संक्रमित कर रहे हैं, ऐसे में घर का खराब वेंटिलेशन वायरस को और भी ज्यादा बढ़ा सकता है.

आइए जानते हैं उन तीन तरीकों के बारे में जिससे हवा क्वालिटी सुधारी जा सकती है
रात में कमरे की खिड़कियां थोड़ी खोलकर सोएं
वैज्ञानिकों का कहना है कि रात में सोते वक्त खिड़कियों को थोड़ा सा खोलकर सोना फायदेमंद हो सकता है. इससे रात भर में कमरे के अंदर की हवा की क्वालिटी में सुधार होगा और नमी कम हो जाएगी. गर्मियों में ये तरीका ह्यूमिडिटी को कम करेगा लेकिन सर्दियों में इस उपाय को लेकर थोड़ा सतर्क रहने की जरूरत है.



इसे पढ़ें : Coronavirus: 'धारावी मॉडल' ने दुनिया के सामने पेश की मिसाल, वर्ल्ड बैंक ने भी की सराहना



किचन और बाथरूम में एग्जॉस्ट लगवाएं
घर में हवा के वेंटिलेशन को बेहतर बनाने के लिए आजकर बाजार में कई तरह के पंखे भी आ गए हैं. इसके साथ ही वेंट लगाना भी एक बेहतर उपाय हो सकता है. इससे आपके के अंदर की नमी और खराब हवा को बाहर निकालने में मदद मिलती है. इसके साथ ही बाथरूम और किचन में विशेष रूप से एग्जॉस्ट लगाना चाहिए. इन जगहों पर ही सबसे ज्यादा नमी और खराब हवा तैयार होती है. इन खराब हवाओं को बाहर निकालने में एग्जॉस्ट काफी मददगार साबित होता है.

इसे पढ़ें :- बीते 24 घंटे में महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के 13,395 मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 15 लाख के करीब

कमरे के अंदर पौधे लगाने का काम करें
घर के अंदर मौजूद खराब हवा से लड़ने के लिए आप पौधों का इस्तेमाल कर सकते हैं. कमरे के अंदर रख पौधे हवा की क्वालिटी सुधारने में काफी मददगार साबित हो सकते हैं. ये पौधे घर के अंदर कार्बन डाय ऑक्साइड के स्तर, नुकसान पहुंचाने वाले टॉक्सिन्स को भी कम करेंगे. इसके साथ ही अगर आप एयर प्यूरिफायर लगा सकते हैं तो ये सबसे बेहतर उपाय साबित हो सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज