Home /News /nation /

दस रुपये का नोट लेकर चूजे का इलाज कराने अस्पताल पहुंचा छह साल का ये बच्चा

दस रुपये का नोट लेकर चूजे का इलाज कराने अस्पताल पहुंचा छह साल का ये बच्चा



दस रुपये का नोट लेकर चूजे का इलाज कराने अस्पताल पहुंचा छह साल का ये बच्चा

दस रुपये का नोट लेकर चूजे का इलाज कराने अस्पताल पहुंचा छह साल का ये बच्चा

दुनिया भर में तारीफ होने के बाद डेरेक को उनके स्कूल ने भी सराहा और उन्हें एक सर्टिफिकेट भेंट किया.

    सोचिए अगर छह साल का मासूम बच्चा किसी हॉस्पिटल में दस रुपये का नोट लेकर पहुंचे और नम आंखों से डॉक्टर से अपने दोस्त को ठीक करने की फरियाद करे तो आप क्या कहेंगे. खास बात ये कि बच्चे का दोस्त कोई और नहीं बल्की एक चूजा हो, जिसे वो अपने साथ हाथ में लेकर आया हो. मिजोरम के एक हॉस्पिटल में जिस किसी ने भी इस नजारे को देखा वह बच्चे की मासूमियत का कायल हो गया.
    दरअसल छह साल का डेरेके सी लालचंहिमा की तस्वीर सोशल मीडिया पर वायल हो रही है. इस तस्वीर में डेरेक एक हाथ में नोट और एक हाथ में मुर्गी का बच्चा है.

    दरअसल अपनी साइकिल से डेरेक ने अनजाने में एक मुर्गी के बच्चे को कुचल दिया था. डेरेक को एकदम से समझ में नहीं आया कि मुर्गी का बच्चा मर चुका है और वो अपने माता-पिता से उसे हॉस्पिटल ले जाने की जिद करने लगा. जब उन्हें मना कर दिया गया तो वो खुद ही मुर्गी के बच्चे को हॉस्पिटल ले जाने लगा. बताया जाता है कि जेब खर्च के 10 रुपये लेकर वह हॉस्पिटल पहुंचा और नर्स और डॉक्टर से मृत मुर्गी के बच्चे का इलाज करने की विनती करने लगा. बच्चे की इस मासूमियत ने नर्स और डॉक्टर का दिल इतना जीत लिया कि उन्होंने डेरेक को तुरंत एक तस्वीर निकाल ली. इस फोटो को दुनिया भर ने सराहा.

    इसे भी पढ़ें :- AC के खर्चे से परेशान हैं तो आजमाएं ये Tricks, नहीं आएगा लंबा बिल



    डेरेक सी लालचंहिमा की तस्वीर और कहानी ने उन्हें रातो रात इंटरनेट का नया हीरो बना दिया है. दुनिया भर में तारीफ होने के बाद डेरेक को उनके स्कूल ने भी सराहा और उन्हें एक मानपत्र भेंट किया. नई तस्वीर में डेरेक चेहरे पर एक सुंदर मुस्कान लेकर सैरंग की सेंट पीओ स्कूल के यूनिफ़ॉर्म में नजर आए.

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स 

    Tags: Internet users, Mizoram, Social media, Trending news, Viral

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर