किसानों की समस्याओं का हल उनकी ज़रूरत के मुताबिक खोजना होगा: कोविंद

सिंचाई को लेकर राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार ने प्रति बूंद अधिक फसल की अवधारणा को बढ़ावा दिया है

भाषा
Updated: February 15, 2018, 1:03 AM IST
किसानों की समस्याओं का हल उनकी ज़रूरत के मुताबिक खोजना होगा: कोविंद
सिंचाई को लेकर राष्ट्रपति ने कहा कि सरकार ने प्रति बूंद अधिक फसल की अवधारणा को बढ़ावा दिया है
भाषा
Updated: February 15, 2018, 1:03 AM IST
राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने बुधवार को कहा कि भारत जैसे विशाल देश के हर हिस्से में किसानों की समस्याएं अलग-अलग हैं और इसलिए उनकी जरूरतों के मुताबिक समाधान तलाशना होगा.

राष्ट्रपति ने इस बात पर भी जोर दिया कि आधुनिक खेती के प्रति एक व्यापक रूख विकसित करने और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग पर ध्यान केंद्रित करने की ज़रूरत है ताकि किसानों को उनके उत्पाद के लिए बेहतर कीमत मिल सके.

कोविंद ने यहां चंद्रशेखर आजाद यूनिवर्सिटी एंड टेक्नोलॉजी एग्रीकॉन 2018 और एग्री एक्सपो 2018 अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन करने के बाद कहा कि भारत जैसे विशाल देश में अलग-अलग क्षेत्रों में किसानों की समस्याएं अलग-अलग हैं. हमें उनकी जरूरतों के मुताबिक समाधान तलाशना होगा.

उन्होंने सिंचाई उद्देश्य के लिए जल की उपलब्धता को लेकर कहा कि जल एक साझा चिंता है. इस सिलसिले में सरकार ने ‘ प्रति बूंद, अधिक फसल’ की अवधारणा को बढ़ावा दिया और यह संदेश देश में हर किसान के पास पहुंचना चाहिए.

राष्ट्रपति ने कहा कि आज के समय में ‘जय जवान जय किसान’ का नारा और प्रासंगिक हो गया है.

ये भी पढ़ेंः
'नमामि गंगे' कार्यक्रम पर ये बोले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद
Loading...
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, समाज के लिए आदर्श प्रस्तुत कर रहे हैं दिव्यांग
पूरी ख़बर पढ़ें
Loading...
अगली ख़बर