Home /News /nation /

the target of hoisting har ghar tiranga from august 11 to 17 in karnataka crs

11 से 17 अगस्त तक 'हर घर तिरंगा' फहराने का लक्ष्य, कर्नाटक के उच्च शिक्षा मंत्री ने दिए आदेश

भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा (File Photo)

भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा (File Photo)

National Flag Of India: आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर केंद्र सरकार के अभियान के तहत भारतीय स्वतंत्रता के 'अमृत महोत्सव' को चिह्नित करने के लिए 11 से 17 अगस्त तक हर घर में राष्ट्रीय ध्वज फहराने का लक्ष्य रखा गया है. इस अभियान की सफलता सुनिश्चित करने के लिए कर्नाटक के उच्च शिक्षा मंत्री सीएन अश्वथ नारायण ने रविवार को सभी विभागों को आदेश जारी किया है. 

अधिक पढ़ें ...

बेंगलुरु. कर्नाटक के उच्च शिक्षा मंत्री सीएन अश्वथ नारायण ने रविवार को कहा कि सभी उच्च शिक्षण संस्थानों, तकनीकी शिक्षा विभाग (डीसीटीई) के तहत आने वाले संस्थानों को ‘हर घर तिरंगा’ की सफलता सुनिश्चित करने के लिए एक परिपत्र जारी किया गया है.

आज़ादी के 75 वर्ष पूरे होने पर केंद्र सरकार के अभियान के तहत भारतीय स्वतंत्रता के ‘अमृत महोत्सव’ को चिह्नित करने के लिए 11 से 17 अगस्त तक हर घर में राष्ट्रीय ध्वज फहराने का लक्ष्य रखा गया है.

मंत्री के कार्यालय की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, नारायण ने राज्य के विश्वविद्यालयों के दायरे में आने वाले सभी कॉलेजों और संस्थानों और डीसीटीई के तहत सरकारी / सहायता प्राप्त / गैर-सहायता प्राप्त कॉलेजों सहित डिप्लोमा कॉलेजों से तिरंगा फहराकर अपने राष्ट्रीय गौरव का प्रदर्शन करने का आग्रह किया.

शिक्षण संस्थानों से कहा गया है कि वह कक्षाओं के दौरान छात्रों को इस बारे में जानकारी दें और अपने संबंधित नोटिस बोर्ड पर इसकी जानकारी प्रदर्शित करें. उन्हें यह भी कहा गया है कि वह वाहन चालकों को वाहनों पर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए कहें.

नोटिस में कहा गया है कि इस संबंध में की गई कार्रवाई को साप्ताहिक आधार पर कन्नड़ और संस्कृति विभाग की वेबसाइट पर अपलोड किया जाना चाहिए.

मंत्री ने कहा कि संबंधित संस्थानों के संकाय, गैर-शिक्षण कर्मचारियों और छात्रों को अपने घरों के ऊपर राष्ट्रीय ध्वज फहराने के लिए प्रेरित किया जाना चाहिए.

Tags: Indian National Flag, Tiranga yatra

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर