अफजल गुरु का अधूरा काम पूरा करने की सोच शर्मनाक और मूर्खतापूर्ण: उपराष्ट्रपति

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि कुछ लोगों की अफजल गुरु का अधूरा काम पूरा करने की सोच शर्मनाक और मूर्खता बताया है.

भाषा
Updated: August 8, 2019, 3:44 PM IST
अफजल गुरु का अधूरा काम पूरा करने की सोच शर्मनाक और मूर्खतापूर्ण: उपराष्ट्रपति
उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू (फाइल फोटो)
भाषा
Updated: August 8, 2019, 3:44 PM IST
देश के उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने कहा कि कुछ लोगों की अफजल गुरु का अधूरा काम पूरा करने की सोच शर्मनाक और मूर्खता बताया है. उन्होंने कहा कि अफजल गुरु ने भारतीय संसद को बम धमाके से उड़ाकर लोकतांत्रिक व्यवस्था को समाप्त करने का षड़यंत्र रचा था.

वेंकैया नायडू ने यहां आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘जब (13 दिसंबर 2001 को) संसद भवन पर आतंकी हमला हुआ था, तब मैं भी वहीं था. हम लोग बच गए. कुछ लोग कह रहे हैं कि वे अफजल गुरु का अधूरा काम वे पूरा करेंगे. यानी इन लोगों के इरादे संसद भवन को बम से उड़ाकर भारत में लोकतंत्र को समाप्त करने के हैं. यह कितनी बेवकूफी भरी सोच है.’

उन्होंने कहा, ‘देश के 920 विश्वविद्यालयों में से कुछ यूनिवर्सिटी ही गलत कारणों के चलते खबरों में आती हैं. इनमें कुछ के विवाद सामने आते हैं. कुछ लोगों द्वारा कहा जाता है कि अफजल गुरु का छोड़ा अधूरा काम वे पूरा करेंगे.’

2013 में अफजल को लगाई गई फांसी

बता दें कि संसद भवन पर 2001 में आतंकवादी हमला हुआ था. इस हमले के मुख्य दोषी अफजल गुरू को 9 फ़रवरी 2013 को दिल्ली की तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई थी.

‘भारत हमारा देश है’
देश की एकता और अखंडता को सर्वोपरि बताते हुए नायडू ने कहा, ‘भारत हमारा देश है. अगर कश्मीर में कुछ चल रहा है, तो हम इससे चिंतित हैं. कन्याकुमारी में कुछ चल रहा है, तो हम सबको इससे चिंतित होना चाहिये. देश की एकता और अखंडता हमारे लिये सर्वोपरि है.’
Loading...

भारत ने लगाई पाकिस्तान को लताड़, कहा 'पाक की चाल कभी कामयाब नहीं होगी'
First published: August 8, 2019, 3:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...