लाइव टीवी

निर्भया के दोषियों का नया पैतरा, व्यवहार में सुधार का हवाला देकर डालेंगे क्यूरेटिव पिटीशन

News18Hindi
Updated: January 24, 2020, 6:01 AM IST
निर्भया के दोषियों का नया पैतरा, व्यवहार में सुधार का हवाला देकर डालेंगे क्यूरेटिव पिटीशन
निभर्या दोषियों ने नहीं बताई आखिरी इच्छा

निर्भया गैंगरेप और हत्या (Nirbhaya Gangrape) के मामले में दोषियों के वकील एपी सिंह ने बताया कि जेल से कागजात मिलने में हुई देरी की वजह से क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल करने में देरी हो रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2020, 6:01 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप और हत्या (Nirbhaya Gangrape) के मामले में फांसी की सजा पा चुके चारों दोषियों में से तीन बहुत जल्द सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में क्यूरेटिव पिटीशन (Curative petition) डालने वाले हैं. बताया जाता है कि दोषी विनय, अक्षय और पवन एक-दो दिन में सुप्रीम कोर्ट में क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल करेंगे. खबर है कि तीनों दोषी जेल में अपने व्यवहार में सुधार का जिक्र करते हुए फांसी की सजा उम्र कैद में तब्दील करने की मांग करेंगे.

दोषियों के वकील एपी सिंह ने बताया कि जेल से कागजात मिलने में हुई देरी की वजह से क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल करने में देरी हो रही है. अपने मुवक्किलों से जेल में मिलने पहुंचे वकील एनपी सिंह ने बताया कि उन्होंने जेल प्रशासन ने तीनों दोषियों के अच्छे व्यवहार से जुड़ी जानकारी मांगी है. उन्होंने कहा कि हमें पूरी उम्मीद है कि कोर्ट दोषियों के अच्छे व्यवहार को देखते हुए फांसी की सजा उम्र कैद में तब्दील कर देगी.

दोषियों के वकील एपी सिंह ने आरोप लगाया कि उन्हें जेल नंबर तीन में बंद उनके मुवक्किलों से मिलने में खासी दिक्कत हो रही है. उन्हें याचिका दाखिल करने के लिए दोषियों से कागजात पर हस्ताक्षर करवाने थे. उन्होंने बताया कि क्यूरेटिव पिटीशन में नए तथ्यों को सामने रखना होता है इसलिए हमने जेल प्रशासन ने दोषियों की ओर से किए गए अच्छे व्यवहार की जानकारी मांगी है.

इसे भी पढ़ें :- निर्भया केस: मौत को कब तक टालेंगे दोषी, एक दिन तो फांसी होनी है- चीफ जस्टिस

दोषी विनय ने बचाई थी साथी कैदी की जान
एपी सिंह ने बताया कि विनय ने जेल में रहते हुए कई अच्छे काम किए हैं. विनय ने तनावग्रस्त एक कैदी को खुदकुशी करने से बचाया था. इसी के साथ उसने कई अच्छी पेंटिंग भी की है. वह ब्लड डोनेशन कैंप में भी शामिल रहा है. इसी तरह अक्षय भी जेल में होने वाले सुधार कार्यों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेता रहा है.

इसे भी पढ़ें :- निर्भया गैंगरेप: गुनहगारों के खिलाफ डेथ वॉरंट जारी करने वाले जज का तबादला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 5:50 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर