नई शिक्षा नीति का जोर रोजगार मांगने वालों की जगह रोजगार देने वाला तैयार करना है: PM मोदी

नई शिक्षा नीति का जोर रोजगार मांगने वालों की जगह रोजगार देने वाला तैयार करना है: PM मोदी
PM मोदी ने शुरू किया ‘स्मार्ट इंडिया हैकाथन’ का ग्रैंड फिनाले फाइल फोटो)

गौरतलब है कि हैकाथन के बारे में प्रधानमंत्री (Prime Minister) ने शुक्रवार को ट्वीट (Tweet) किया था, ‘‘स्मार्ट इंडिया हैकाथन (Smart India Hackathon) विचार करने और कुछ नया करने के एक जीवंत मंच के रूप में उभरा है.

  • Share this:
नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने शनिवार को कहा कि सरकार द्वारा घोषित नई शिक्षा नीति (New education policy) का जोर रोजगार मांगने वालों की जगह रोजगार देने वालों को तैयार करना है और देश में शिक्षा के प्रयोजन और विषय-वस्तु में सुधार (Improvement in the purpose and content of education in the country) के प्रयास किए जा रहे हैं. ‘स्मार्ट इंडिया हैकाथन’ (Smart India Hackathon) के फिनाले को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि इस सप्ताह की शुरुआत में घोषित नई शिक्षा नीति-2020 (New Education Policy-2020) में अंतर-विषय अध्ययन पर जोर दिया गया है, जो यह सुनिश्चित करेगा कि छात्र (Student) जो सीखना चाहता है पूरा ध्यान उसी पर हो.

उन्होंने छात्रों से कहा कि गरीबों को बेहतर जीवन देने के लिए ‘जीवन की सुगमता’ का लक्ष्य हासिल करने में युवा वर्ग (youth) की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है. गौरतलब है कि हैकाथन के बारे में प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को ट्वीट किया था, ‘‘स्मार्ट इंडिया हैकाथन (Smart India Hackathon) विचार करने और कुछ नया करने के एक जीवंत मंच के रूप में उभरा है. स्वाभाविक रूप से, इस बार हमारे युवा अपने नवाचारों (innovation) में कोविड के बाद की दुनिया के साथ-साथ आत्मनिर्भर भारत बनाने के तरीकों पर ध्यान केंद्रित कर रहे होंगे.’’

भारतीय भाषा, संस्कृति में तिलक का विश्वास नयी शिक्षा नीति में झलकता है :अमित शाह
स्मार्ट इंडिया हैकाथन के 2017 में हुए पहले संस्करण में 42,000 विद्यार्थियों ने भाग लिया था. यह संख्या 2018 में बढ़कर एक लाख और 2019 में बढ़कर दो लाख हो गई थी. स्मार्ट इंडिया हैकाथन 2020 के पहले दौर में साढ़े चार लाख से अधिक विद्यार्थियों ने भाग लिया.
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को कहा कि भारतीय भाषाओं और संस्कृति में लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक का विश्वास हाल ही में जारी नयी शिक्षा नीति में झलकता है.



'PM मोदी के न्यू इंडिया-आत्मनिर्भर भारत के जरिए तिलक के विचारों को मिल रहा बढ़ावा'
‘लोकमान्य तिलक- स्वराज से आत्मनिर्भर भारत तक’ विषय पर दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय वेबिनार का उद्घाटन करते हुए शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘न्यू इंडिया’ और ‘आत्मनिर्भर भारत’ के दृष्टिकोण के माध्यम से तिलक के विचारों को बढ़ावा दिया जा रहा है.

यह भी पढ़ें: चाइना स्टडी ग्रुप में लद्दाख की स्थिति पर चर्चा, चीनी सेना हटाने पर भारत अडिग

उन्होंने कहा कि एक राष्ट्र के रूप में भारत, भारतीय संस्कृति और भारतीय परंपराओं के तिलक के विचार आज भी उतने ही प्रासंगिक हैं. शाह ने कहा, ‘‘भारतीय भाषाओं और भारतीय संस्कृति में लोकमान्य तिलक का विश्वास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की नयी शिक्षा नीति में झलकता है.’’ केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 29 जुलाई को नई शिक्षा नीति, 2020 को मंजूरी दी थी जिसमें स्कूली और उच्च शिक्षा में आमूल-चूल बदलाव के प्रावधान हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading