मुंबई: फैमिली इमरजेंसी का बहाना बनाकर महाबलेश्वर घूमने पहुंचा था वधावन परिवार, उद्धव ठाकरे ने ले लिया एक्शन

लॉकडाउन के बीच DHFL मामले से जुड़े कपिल वाधवान समेत 22 लोग महाबलेश्वर पहुंच गए थे.
लॉकडाउन के बीच DHFL मामले से जुड़े कपिल वाधवान समेत 22 लोग महाबलेश्वर पहुंच गए थे.

उद्धव सरकार ने इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए गृह विभाग के विशेष सचिव और एडिशनल डीजीपी अमिताभ गुप्ता को तत्काल प्रभाव से अनिवार्य अवकाश (फोर्स लीव) पर भेज दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 10, 2020, 2:44 PM IST
  • Share this:
मुंबई. देश में तेजी से फैल रहे कोरोना वायरस (Coronavirus)  की चेन तोड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi)  के 21 दिन के लॉकडाउन (Lockdown)  की घोषणा का कुछ लोगों पर कोई असर नहीं दिख रहा है. बताया जाता है कि लॉकडाउन के सभी नियमों को दरकिनार कर DHFL मामले से जुड़े कपिल वधावन समेत 22 लोग महाबलेश्वर पहुंच गए. इस मामले में अब नया मोड़ गया गया है. बताया जा रहा है कि इन लोगों के पास महाराष्ट्र गृह विभाग के विशेष सचिव और एडिशनल डीजीपी अमिताभ गुप्ता की एक चिट्ठी है जिसमें उन्हें फैमिली इमरजेंसी का हवाला देते हुए महाबलेश्वर जाने की इजाजत दी गई है.

कपिल वधावन समेत 22 लोगों के इस तरह एकाएक महाबलेश्वर पहुंचने का मामला जैसे ही मीडिया के सामने आया वैसे ही विपक्ष की ओर से उद्धव सरकार पर हमला तेज कर दिया गया.  पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी इस तरह के वीआईपी ट्रीटमेंट पर सवाल खड़े किए.

Corona, Corona Virus, Maharashtra, Lockdown, Uddhav Thackeray, Narendra Modi
महाराष्ट्र गृह विभाग के विशेष सचिव और एडिशनल डीजीपी अमिताभ गुप्ता की चिट्ठी.




इस बीच जांच में पता लगा कि वधावन बंधु को सरकार की तरफ से ही वीवीआईपी ट्रीटमेंट दिया गया था. सरकार की ओर से जारी एक पत्र में कहा गया है कि वधावन परिवार को कोई पारिवारिक इमरजेंसी है, जिसके कारण उन्हें महाबलेश्वर जाने की इजाजत दी जाए. हालांकि, जांच में ऐसी कोई भी इमरजेंसी का पता अभी तक नहीं चला है.
इस संबंध में जब पुलिस ने वधावन बंधुओं से महाबलेश्वर आने का कारण पूछा तो उनकी ओर से एक चिट्ठी दिखाई गई. ये चिट्ठी महाराष्ट्र के प्रिंसिपल सेक्रेटरी (होम) अमिताभ गुप्ता की थी, जो 8 अप्रैल को जारी की गई थी.

इसे भी पढ़ें :- Covid-19: भारत में बढ़ा कम्युनिटी ट्रांसमिशन का खतरा, ICMR की रिपोर्ट में खुलासा

फोर्स लीव पर भेजे गए अमिताभ गुप्ता
उद्धव सरकार ने इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए गृह विभाग के विशेष सचिव और एडिशनल डीजीपी अमिताभ गुप्ता को तत्काल प्रभाव से अनिवार्य अवकाश (फोर्स लीव) पर भेज दिया है. इस बात की जानकारी महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने दी. दरअसल, देवेंद्र फडणवीस ने ट्वीट किया, 'महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख से यह पूछताछ की जाएगी कि वाधवान परिवार के 23 लोगों को खंडाला से महाबलेश्वर तक यात्रा करने की अनुमति कैसे मिली'.

इसे भी पढ़ें -:
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज