'सर्जिकल स्ट्राइक के अलावा पाकिस्तान को सबक सिखाने के और भी रास्ते'

News18Hindi
Updated: February 16, 2019, 9:07 PM IST
'सर्जिकल स्ट्राइक के अलावा पाकिस्तान को सबक सिखाने के और भी रास्ते'
रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल सैयद अता हसनैन

पाकिस्तान को कूटनीतिक रूप से अलग-थलग करने की जरूरत पर जोर देते हुए उन्होंने कहा, 'यह भारत की आवाज है, जिसे सभी प्रमुख देशों में सुना जाना चाहिए.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 16, 2019, 9:07 PM IST
  • Share this:
कश्मीर के पुलवामा में CRPF जवानों पर हमले के दो दिन बाद एक सेवानिवृत्त वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने कहा है कि सबसे पहले राजनीतिक सहमति तक पहुंचने के प्रयास किए जाने चाहिए. CNN-News18 से बातचीत में सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल रिटायर्ड सैयद अता हसनैन ने कहा कि हमें कश्मीर को राजनीतिक दलों और अन्य देशवासियों के बीच एक विभाजित रेखा नहीं बनने देना चाहिए.

उन्होंने कहा कि हमें यह अहसास होना चाहिए कि किसी भी हालत में आज के समय पूर्ण रूप से परंपरागत युद्ध प्रासंगिक नहीं है. पाकिस्तान को आर्थिक रूप से कमजोर करने के लिए और भी स्मार्ट तरीके हैं. वरिष्ठ सैन्य अधिकारी ने कहा कि कई गुप्त ऑपरेशन के जरिये पाकिस्तान को सबक सिखाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें:  पुलवामा हमला: तबाही के मंजर के बीच ऐसे हुई शहीद जवानों की शिनाख्त

उन्होंने कहा, 'कश्मीर में उग्रवाद और आतंकवाद के इतिहास में, केवल तीन बड़ी घटनाएं हुई हैं - श्रीनगर में जम्मू-कश्मीर विधानसभा में हुई घटना, एक बादामी बाग गेट पर और तीसरा वह है जिससे ज्यादातर लोग नहीं जानते हैं. पट्टन के पास एक आर्मी बस में एक कार भिड़ गई थी. पिछले 30 वर्षों में तीन घटनाएं हुई हैं.'

यह भी पढ़ें:  Video: पुलवामा के शहीदों की याद में भावुक हुईं News18 India की एंकर, लोगों ने कुछ यूं किया सलाम

उन्होंने कहा, 'कार में बम लगाने के लिए तकनीक का काफी ध्यान रखना पड़ता है. 350 किलोग्राम विस्फोटक को संभालना आसान नहीं है. यह ज्यादातर विशेषज्ञों की निगरानी में होता है, जिन्हें IED डॉक्टर कहा जाता है, जो 2008 के बाद लगभग गायब हो गए थे. हालांकि, यह कहीं न कहीं लगता है कि एक उच्च प्रोफ़ाइल डॉक्टर को वापस लाया गया है जिसने इसको पूरी तरह से तैयार किया हो. खुफिया एजेंसियां उसे पकड़ लेंगी. हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि विस्फोटक नियंत्रण में हों.'

यह भी पढ़ें: कराची में 'फिर भी दिल है हिन्दुस्तानी' गाने पर बच्चों ने किया डांस, स्कूल का रजिस्ट्रेशन सस्पेंड
Loading...

अफगानिस्तान में सुरक्षा सक्रियता पर, लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) हसनैन ने CNN-News18 को बताया, 'अफगानिस्तान, चीन, रूस, सऊदी अरब और अमेरिका से अमेरिकी पुल-आउट के साथ सभी अफगानिस्तान में एक निर्णायक भूमिका निभाने के लिए पाकिस्तान को देख रहे हैं. इसलिए पाकिस्तान का सामरिक महत्व बढ़ गया है. ऐसी स्थिति में, पाकिस्तान ने भारत पर हमले करने के लिए लश्कर-ए-तैयबा (LeT) और JeM (जैश-ए-मोहम्मद) जैसे आतंकी संगठनों को पूरा समर्थन दिया है.'

पाकिस्तान को कूटनीतिक रूप से अलग-थलग करने की जरूरत पर जोर देते हुए उन्होंने कहा, 'यह भारत की आवाज है जिसे सभी प्रमुख देशों में सुना जाना चाहिए.'

यह भी पढ़ें: सर्च करिये best toilet paper, जवाब में Google दिखाएगा- पाकिस्तान का झंडा

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास,सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 16, 2019, 6:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...