• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कोरोना वैक्‍सीनेशन के दैनिक औसत में 21 जून से तेज गिरावट दर्ज : सरकारी आंकड़े

कोरोना वैक्‍सीनेशन के दैनिक औसत में 21 जून से तेज गिरावट दर्ज : सरकारी आंकड़े

देश भर में टीकाकरण की रफ्तार धीमी हुई है. (File pic)

कोरोना वायरस (Corona Virus) रोधी टीकाकरण का नया चरण आरंभ होने के बाद दैनिक औसत में 21 जून से कमी देखी जा रही है . सरकारी आंकड़ों से यह पता चला है. कोविन प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक 21-27 जून वाले हफ्ते में प्रत्येक दिन कोविड रोधी टीके (anti-Corona vaccine) की औसतन 61.14 लाख खुराक दी गईं. इसके बाद के हफ्ते में, 28 जून से 4 जुलाई के बीच यह आंकड़ा कम होकर प्रतिदिन 41.92 लाख खुराक रह गया.

  • Share this:
    नयी दिल्ली. कोरोना वायरस (Corona Virus) रोधी टीकाकरण का नया चरण आरंभ होने के बाद दैनिक औसत में 21 जून से कमी देखी जा रही है. सरकारी आंकड़ों से यह पता चला है. कोविन प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक 21-27 जून वाले हफ्ते में प्रत्येक दिन कोविड रोधी टीके (anti-Corona vaccine) की औसतन 61.14 लाख खुराक दी गईं. इसके बाद के हफ्ते में, 28 जून से 4 जुलाई के बीच यह आंकड़ा कम होकर प्रतिदिन 41.92 लाख खुराक रह गया. इसके बाद, 5 से 11 जुलाई वाले हफ्ते में प्रतिदिन लगाई गई टीके की खुराकों की औसत संख्या और कम होकर 34.32 लाख रह गई.

    राज्यों में टीकाकरण को लेकर मिलीजुली प्रवृत्ति देखने को मिली है, जिसमें कुछ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में टीकाकरण में निरंतरता है जबकि कहीं इसमें गिरावट आई है. कोविन के आंकड़ों के मुताबिक हरियाणा, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात और छत्तीसगढ़ में 21-27 जून वाले हफ्ते से औसत दैनिक टीकाकरण में गिरावट देखी गई जबकि केरल, अंडमान निकोबार द्वीपसमूह, दादरा नागर हवेली और जम्मू-कश्मीर में दैनिक कोविड-19 टीकाकरण में निरंतरता देखी गई है. असम और त्रिपुरा जैसे राज्यों में, जहां कोरोना वायरस के नए मामलों में वृद्धि देखी जा रही है वहां दैनिक औसत टीकाकरण में गिरावट देखी जा सकती है.

    ये भी पढ़ें  :  हिमाचल में बादल फटने से तबाही: अमित शाह ने दिया CM जयराम को मदद का भरोसा, NDRF टीम रवाना

    इस गिरावट के बावजूद, कोविड रोधी टीकाकरण के इससे पहले के चरण के मुकाबले यहां अब दैनिक औसत टीकाकरण अधिक है. आंकड़ों के मुताबिक 14-20 जून वाले हफ्ते में दैनिक औसत टीकाकरण 33.97 लाख था. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों और निजी अस्पतालों के पास कोविड-19 रोधी टीके की 1.54 करोड़ से अधिक अप्रयुक्त खुराकें मौजूद हैं. इसमें बताया गया कि टीके की कुल खुराकों में से 37,31,88,834 खुराकों (बेकार गई खुराकों समेत) का इस्तेमाल हुआ है.

    ये भी पढ़ें  :  भारतीय नेवी के लिए तैयार होंगी 6 सबमरीन लेकिन इनमें नहीं होगी ये स्वदेशी तकनीक

    महाराष्ट्र जहां सोमवार को कोविड-19 के सबसे अधिक मामले सामने आए, उसने टीके की अधिक खुराक मांगी है. महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए राज्य की पूरी पात्र आबादी का जल्द से जल्द टीकाकरण करने के लिए प्रति माह कोविड रोधी टीके की कम से कम तीन करोड़ खुराक की जरूरत होगी.

    वहीं दूसरी ओर, गुजरात सरकार के अधिकारियों ने सोमवार को कहा कि राज्य की जनता के कोरोना वायरस से बचाव के लिए केंद्र से अब तक कोविड रोधी टीके की ‘पर्याप्त’ खुराक मिली हैं और राज्य के पास अभी टीके की करीब सात लाख खुराक और हैं. यहां के अधिकारियों ने विश्वास जताया कि राज्य के सभी पात्र लोगों को इस साल के अंत तक टीका लगा दिया जाएगा. आधिकारिक अनुमान के मुताबिक, गुजरात की टीके के लिहाज से पात्र आबादी के पूर्ण टीकाकरण के लिए राज्य को कुल 9.6 करोड़ खुराक की आवश्यकता है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज