• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कैप्‍टन और सिद्धू में अभी भी सुलह के संकेत नहीं, पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष से मिलने को तैयार नहीं

कैप्‍टन और सिद्धू में अभी भी सुलह के संकेत नहीं, पंजाब कांग्रेस अध्‍यक्ष से मिलने को तैयार नहीं

पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच मामला सुलझा नहीं है.

पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच मामला सुलझा नहीं है.

पंजाब के मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने नवनियुक्त प्रदेश कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के साथ अपने मुद्दों को हल करने तक सिद्धू के साथ किसी भी तरह की निजी बैठक करने से इनकार किया. मोहिंद्रा ने यह बात उस दिन कही जब सिद्धू अमृतसर गए थे, जहां उनके समर्थकों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया. सिद्धू को प्रदेश प्रमुख बनाए जाने के बाद किसी मंत्री द्वारा की गयी यह पहली ऐसी टिप्पणी है, जो दिखाती है कि पंजाब कांग्रेस में संकट अभी खत्म नहीं हुआ है.

  • Share this:
    चंडीगढ़ . पंजाब के मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा ने नवनियुक्त प्रदेश कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के साथ अपने मुद्दों को हल करने तक सिद्धू के साथ किसी भी तरह की निजी बैठक करने से इनकार किया. मोहिंद्रा ने यह बात उस दिन कही जब सिद्धू अमृतसर गए थे, जहां उनके समर्थकों और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने उनका जोरदार स्वागत किया. सिद्धू को प्रदेश प्रमुख बनाए जाने के बाद किसी मंत्री द्वारा की गयी यह पहली ऐसी टिप्पणी है, जो दिखाती है कि पंजाब कांग्रेस में संकट अभी खत्म नहीं हुआ है.

    मोहिंद्रा ने यहां जारी एक बयान में कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त करने के पार्टी आलाकमान के फैसले का स्वागत है. उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, मैं उनसे (सिद्धू) तब तक नहीं मिलूंगा जब तक कि वह मुख्यमंत्री से मिलकर उनके साथ अपने मुद्दों को सुलझा नहीं लेते.’’ मोहिंद्रा ने कहा कि अमरिंदर सिंह कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) के नेता हैं और वह उनके निर्देशों का पालन करेंगे. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोहिंद्रा ने कहा कि सीएलपी नेता होने के अलावा मुख्यमंत्री कैबिनेट का भी नेतृत्व करते हैं, जिसका वह हिस्सा हैं.

    ये भी पढ़ें :  क्या कांग्रेस आलाकमान भजन लाल की तरह समाप्त करेगा कैप्टन अमरिंदर की राजनीतिक पारी?

    ये भी पढ़ें :  पंजाब, राजस्थान, हरियाणा के बाद अब कर्नाटक और महाराष्ट्र ने बढ़ाई कांग्रेस की टेंशन

    उन्होंने स्पष्ट कर दिया कि जब तक सिद्धू, सिंह के साथ सभी मुद्दों को सुलझा नहीं लेते, वह उनसे निजी तौर पर नहीं मिलेंगे.

    समझा जाता है कि सिंह ने पिछले हफ्ते अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के महासचिव हरीश रावत से कहा था कि वह सिद्धू से तब तक नहीं मिलेंगे जब तक कि वह उनके खिलाफ अपने ‘‘अपमानजनक’’ ट्वीट के लिए माफी नहीं मांग लेते. सिद्धू को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाए जाने पर मुख्यमंत्री की तरफ से अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज