लाइव टीवी

अगर डिटेंशन कैंप में डाले गए मुस्लिम तो होना चाहिए बड़ा आंदोलन: चिदंबरम

News18Hindi
Updated: February 13, 2020, 10:09 PM IST
अगर डिटेंशन कैंप में डाले गए मुस्लिम तो होना चाहिए बड़ा आंदोलन: चिदंबरम
चिदंबरम ने सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा हमलोग संविधान के बुनियाद को कमजोर कर रहे हैं. (File Photo)

चिदंबरम ने कहा कि कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियों का विरोध जिनको बिल से बाहर रखा गया है उसे लेकर है न कि जिनको रखा गया है उनका विरोध है. बीजेपी कहती है कांग्रेस प्रताड़ित हिन्दू, सिख को नागरिकता देने के विरोध में है, ये झूठ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 13, 2020, 10:09 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कांग्रेस नेता पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने गुरुवार को दिल्ली की जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी में सीएए (CAA), एनआरसी (NRC) समेत कई मुद्दों पर बात की. चिदंबरम ने कहा कि नागरिकता के बारे में संविधान में जिक्र है, कोई भी जो यहां रहता है या रह चुका है या जिनके अभिभावक यहां रह चुके हैं उन्हें नागरिक माना जाता है. उन्होंने कहा कि संविधान में नागरिकता से जुड़ी धारा के शब्दों को अंतिम रुप देने में संविधान सभा को 3 महीने का वक्त लगा था.

चिदंबरम ने कहा पूरे बिल को पारित करने में सिर्फ 3 दिन लगे जबकि नेहरू, अम्बेडकर को नागरिकता से जुड़ी धारा को अन्तिम रूप देने में 3 महीने लगे थे. चिदंबरम ने सरकार पर सवाल उठाते हुए कहा हमलोग संविधान के बुनियाद को कमजोर कर रहे हैं. उन्होंने कहा भारत धर्म के आधार पर नागरिकता नहीं देता. चिदंबरम ने कहा धार्मिक आधार पर ही प्रताड़ना का जिक्र क्यों है.

कांग्रेस और लेफ्ट क्यों कर रहीं सीएए का विरोध
चिदंबरम ने कहा कि कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियों का विरोध जिनको बिल से बाहर रखा गया है उसे लेकर है न कि जिनको रखा गया है उनका विरोध है. बीजेपी कहती है कांग्रेस प्रताड़ित हिन्दू, सिख को नागरिकता देने के विरोध में है, ये झूठ है. उन्होंने कहा शरणार्थियों को लेकर एक विस्तृत कानून होना चाहिये, ये हमारा मत है.

चिदंबरम ने कहा नागरिकता संशोधन कानून असम एकॉर्ड फियास्को से बाहर निकलने के लिये लाया गया ताकि 12 लाख हिन्दुओं को नागरिकता दी जा सके और 7 लाख मुस्लिम को छोड़ दिया जाये.

'कांग्रेस का ढांचा कमजोर हुआ'
कांग्रेस के विकल्प बनने के सवाल पर चिदंबरम ने कहा हमलोग तब तक विकल्प नहीं बन सकते जब तक हमें हजारों युवाओं का समर्थन नहीं मिलेगा. उन्होंने कहा जब तक युवा नहीं कहते हमलोग विकल्प चाहते तब तक कोई विकल्प नहीं मिलेगा. कांग्रेस का पार्टी ढांचा कमजोर हुआ है, हमलोग इसे दोबारा मजबूत करने की कोशिश कर रहे हैं, हमलोग अपनी गलती स्वीकारते हैं.नागरिकता संशोधन कानून से जुड़े सवाल और सरकार की मंशा पर चिदंबरम ने कहा उनकी मंशा ठीक नहीं है. वे मुसलमानों की पहचान कर राज्यविहीन करने की कोशिश करेंगे. चिदंबरम ने आरोप लगाया कि वे उन्हें बाहर करने की कोशिश करेंगे या डिटेंशन कैंप में डालने की कोशिश करेंगे तो उस समय एक बड़ा आन्दोलन होना चाहिए ताकि मुस्लिमों को बाहर न किया जा सके और डिटेंशन कैंप में न भेजा सके. सीएए को लेकर चिदंबरम ने कहा, हमारी मांग है की सभी पड़ोसी देशों के सभी धर्मों को इसमें शामिल किया जाए न की तीन पड़ोसी देशों के सिर्फ 6 धर्म के लोगों को.

ये भी पढ़ें-
नए मोटेरा स्‍टेडियम में 150 मिनट रहेंगे मोदी-ट्रंप, 1 लाख लोग करेंगे स्‍वागत

असम NRC डेटा गायब होने के मामले में पूर्व अधिकारी के खिलाफ केस दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 8:46 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर