Home /News /nation /

कोरोना वायरस की वैक्सीन पर उम्मीद जगा रहे हैं ये 4 अपडेट्स

कोरोना वायरस की वैक्सीन पर उम्मीद जगा रहे हैं ये 4 अपडेट्स

हाल ही में सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना संक्रमण के इलाज के बाद ठीक हो चुके मरीजों और आम लोगों से प्लाज्मा दान करने की अपील की.

हाल ही में सीएम अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना संक्रमण के इलाज के बाद ठीक हो चुके मरीजों और आम लोगों से प्लाज्मा दान करने की अपील की.

आइए हम आपको बताते हैं कि अब तक कोरोना वायरस (Coronavirus) के इस संकट से छुटकारा पाने के लिए इस हफ्ते क्या नये प्रयास हुए और उन पर क्या अपडेट्स है.

    नई दिल्ली. दुनिया भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) को लेकर डर और भय का माहौल है. जिन देशों में लॉकडाउन (Lockdown) हटा लिया गया है वहां इस बात की चिंता है कि कहीं कोरोना फिर से उन पर हमला ना बोल दे, तो कहीं इस बात की चिंता है लॉकडाउन ज्यादा दिन तक बरकरार रखा गया तो अर्थव्यवस्था ध्वस्त हो सकती है. विशेषज्ञों का मानना है कि भारत में कोरोना फिलहाल अपने चरम पर नहीं पहुंचा है, हालांकि बीते हफ्ते कोरोना  के रोजाना करीब 10,000  मामले आ रहे थे. शनिवार को यह आंकड़ा 12,000 के करीब पहुंच गया है.

    दूसरी ओर इन्हीं डर और चिंताओं के बीच दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में कोरोना की वैक्सीन इजाद करने की भरपूर कोशिश चल रही है. वैज्ञानिक दुनिया को इस संकट से उबारने के लिए दिन रात लगे हुए हैं. अलग-अलग कंपनियां और देश वैक्सीन और दवा पर काम कर रही हैं, ताकि जल्द से जल्द दुनिया को इस संकट से निजात मिले. आइए हम आपको बताते हैं कि अब तक कोरोना के इस संकट से छुटकारा पाने के लिए इस हफ्ते क्या नये प्रयास हुए और उन पर क्या अपडेट्स है.

    वैक्सीन के लिए अमेरिकी कंपनी के साथ भारत की यह बायोटेक फर्म
    भारतीय बायोटेक फर्म Panacea बायोटेक लिमिटेड ने कोविड-19 के लिए वैक्सीन बनाने के लिए अमेरिका स्थित रेफाना इंक ( Refana Inc) के साथ साझेदारी करेगी. Panacea ने कहा, 'इस साझेदारी का उद्देश्य वैक्सीन की 500 मिलियन यानी 50 करोड़ से अधिक खुराक बनाना है. 40 मिलियन यानी 4 करोड़ से अधिक खुराक अगले साल की शुरुआत में उपलब्ध होने की उम्मीद है.'

    जॉनसन एंड जॉनसन जुलाई में शुरू करेगी ह्यूमन ट्रायल
    अमेरिकी कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson & Johnson) ने बताया है कि उसकी बनाई कोविड-19 वैक्‍सीन के अब तक के ट्रायल सफल हैं. कंपनी जुलाई के दो हफ्ते बीतने के बाद वैक्‍सीन का ह्यूमन ट्रायल शुरू करेगी. कंपनी ह्यूमन ट्रायल के लिए पहले तय किए समय से दो महीने तेजी से काम कर रही है. कंपनी ने वैक्‍सीन बनाने के लिए अमेरिकी सरकार के साथ पहले ही साझेदारी कर ली है. बताया गया कि कंपनी ने वैक्सीन की 1 अरब डोज बनाने की बात कही है.

    सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया भी कर रही काम
    AstraZeneca ने भारत की सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute Of India) के साथ करार किया है. ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर यह कंपनी कोरोना वायरस वैक्सीन का ट्रायल कर रही है. इसके तहत वह सीरम इंस्टीट्यूट को 1 अरब डोज देगी. माना जा रहा है कि सीरम इस साल के आखिर तक 40 करोड़ वैक्सीन उपलब्ध कराएगी. सीरम ने अमेरिका की बायोटेक फर्म Codagenix के साथ लाइव वैक्सीन के लिए भी करार किया है.

    एंटीबॉडी ड्रग्स दे रहे सफलता के संकेत
    AstraZeneca, Eli Lilly और Regeneron सरीखी कंपनियों ने न्‍यूट्रलाइजिंग ऐंटीबॉडीज दवाओं पर काम शुरू कर दिया है. AstraZeneca कंपनी के अनुसार उसे वैडरबिल्‍ड यूनिवर्सिटी से कोरोनावायरस न्‍यूट्रलाइजिंग ऐंटीबॉडीज का लाइसेंस मिला हुआ है जिसके बाद वह इस पर काम कर रही है.
    undefined

    Tags: Corona positive, Coronavirus, India

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर