देश के इन 10 जिलों में है सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमण और मृत्यु की दर, हालात चिंताजनक

(AP Photo/Aijaz Rahi)
(AP Photo/Aijaz Rahi)

देश में संक्रमण के मामले 89.58 लाख हो चुके हैं वहीं 83.83 लाख से अधिक लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 93.58 प्रतिशत हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों में इसकी जानकारी दी गयी है. हालांकि 10-10 जिले ऐसे हैं जहां संक्रमण और मृत्यु दर की हालत काफी चिंताजनक है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2020, 11:14 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना  (Coronvirus In India) की रफ्तार भले ही कम हो गई हो लेकिन कुछ ऐसे राज्य हैं जहां हालात चिंताजनक हैं. केंद्र सरकार द्वारा जारी किए गए आंकड़ों की मानें तो देश के सबसे ज्यादा मृत्युदर वाले 10 जिलों में से सात पंजाब के हैं. वहीं देश में सबसे ज्यादा संक्रमण दर वाले 10 जिलों में से 4 अकेले हिमाचल प्रदेश के हैं.

वहीं राज्य के आधार पर सबसे ज्यादा संक्रमण दर महाराष्ट्र में 17.8% है. केंद्र के आंकड़ों के अनुसार देश में सबसे ज्यादा संक्रमण दर वाले 10 जिलों- लाहौल स्पीति- 50%, मल्लापुरम- 19.8%, शिमला- 17.2%, मंडी- 14.5%, किन्नौर-13.5, त्रिशूर- 13.1%, दीमापुर -12.9%, चंडीगढ़ 12.8%, बेंगलुरु ग्रामीण- 12.8% और बेल्लारी- 12.5 % शामिल हैं.

इसके साथ ही देश में सबसे ज्यादा मृत्युदर वाले 10 जिलों में रोपड़ (रूपनगर)- 5.1%, फतेहगढ़ साहिब- 4.7 %, तरनतारन- 4.6%, संगरूर 4.3%, कपूरथला 4.3%, अहमदाबाद- 4.2 %, लुधियाना- 4.0%, मुंबई- 3.9%, अमृतसर- 3.8 % और रत्नागिरी-3.7 % शामिल हैं.



12,85,08,389 नमूनों की जांच- ICMR
दूसरी ओर गुरुवार को अपडेट किए गए आंकड़ों के अनुसार देश में एक दिन में कोविड-19 के 45,576 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 89,58,483 हो गए. वहीं 585 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,31,578 हो गई. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि देश में अभी 4,43,303 लोगों का कोरोना वायरस संक्रमण का इलाज चल रहा है और 83,83,602 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं.

कोरोना संक्रमितों के ठीक होने के साथ ही मरीजों के ठीक होने की दर 93.58 प्रतिशत हो गई. वहीं कोविड-19 से मृत्यु दर 1.47 प्रतिशत है. वहीं  देश में अभी 4.95 प्रतिशत केस एक्टिव हैं. भारत में सात अगस्त को संक्रमितों की संख्या 20 लाख, 23 अगस्त को 30 लाख और पांच सितंबर को 40 लाख के पार चली गई थी.

वहीं, कुल मामले 16 सितंबर को 50 लाख, 28 सितंबर को 60 लाख, 11 अक्टूबर को 70 लाख और 29 अक्टूबर को 80 लाख के पार चले गए थे. भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार 18 नवंबर तक कुल 12,85,08,389 नमूनों की कोविड-19 संबंधी जांच की गई, जिनमें से 10,28,203 नमूनों का परीक्षण बुधवार को ही किया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज